Breaking News
उत्तराखंड: चमोली में बादल फटने की वजह से भूस्खलन, अलर्ट जारीNo Confidence Motion: गिरिराज सिंह ने राहुल गांधी पर ली चुटकी, बोले- भकूंप के मजे के लिए तैयारDaati Maharaj Case: कोर्ट ने CBI जांच वाली याचिका पर जारी किया नोटिस, मांगा जवाबमानसून सत्र 2018ः No Confidence Motion पर संसद में बहस जारीNo Confidence Motion: कांग्रेस को मिले समय पर खड़गे ने उठाए सवाल, कहा- 130 करोड़ लोगों के लिए 38 मिनट पर्याप्त नहींNo Confidence Motion: शिवसेना ने किया वहिष्कार, कहा- सदन की कार्यवाही में नहीं लेंगे हिस्साअविश्वास प्रस्ताव को प्रश्नकाल की तरह समय देने पर मल्लिकार्जुन खड़गे ने उठाए सवालमोदी सरकार की पहली 'परीक्षा' के लिए राहुल गांधी के 'भूकंप' लाने वाले सवाल लीक
Top

चीन को उसी की भाषा में जवाब देने के लिए भारत ने कर ली है पूरी तैयारी

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Jul 26 2017 11:02AM IST
चीन को उसी की भाषा में जवाब देने के लिए भारत ने कर ली है पूरी तैयारी

भारत और चीन के बीच चल रहे डोकलाम विवाद को लेकर चीन भले ही लगातार भारत को युद्ध की धमकी दे रहा हो लेकिन भारत भी अपने इस पड़ोसी को उसी की भाषा में उसे करारा जवाब देने की बात कर रहा है। मिल रही जानकारी के अनुसार अगर चीन भूटान को किसी तरह से दबाने की कोशिश करता है तो भारत उसका सैन्य और राजनीतिक दोनों तरीके से उसका विरोध करेगा। 

इसे भी पढ़ेंः चीन ने उगला जहर, कहा- यही है भारत को फिर से सबक सिखाने का सही समय

ड्रैगन को शांत करने चीन जाएंगे डोभाल

भारतीय राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहाकार (एनएसए) अजीत डोभाल गुरुवार को ब्रिक्स देशों के एनएसए की बैठक में शामिल होने चीन जाएंगे। ऐसे में उनकी इस यात्रा से इस बात की उम्मीद जताई जा रही है कि वो भारत और चीन के बीच चल रही सीमा विवाद को खत्म करने में कामयाब रहेंगे। हालांकि जानकारों का मानना है कि डोभाल के दौरे से ज्यादा कुछ निकला नहीं है क्योंकि चीन अपनी इस मांग पर अड़ा हुआ है कि भारत इस इलाके से बिना किसी शर्त के अपनी सेना हटाए, तभी कोई बातचीत होगी।

इसे भी पढ़ेंः चीनी मीडिया ने डोकलाम विवाद के लिए अजीत डोभाल को ठहराया जिम्मेदार, बताया 'षड़यंत्रकारी' 

बेहतर स्थिति पर तैनात है भारतीय सेना

भारत ने इस इलाके में किसी भी खतरे से निपटने के लिए धीरे-धीरे अपनी सैन्य टुकड़ियां बढ़ा ली हैं। उधर, जहां भारत और चीन के जवान आमने-सामने सटे हुए हैं, वहां दोनों देशों के महज 300 से 400 सैनिक ही डटे हुए हैं। ये सैनिक टेंट लगाकर एक दूसरे को लाल झंडे दिखाते हुए मौके पर बने हुए हैं। हालांकि, आसपास के इलाकों में भारत ने अपनी सैन्य मौजूदगी मजबूत की है। एक सूत्र ने बताया, 'हमारी सैन्य टुकड़ियां इस क्षेत्र में ज्यादा बेहतर पोजिशन में तैनात हैं। चीनी सेना के मुकाबले उन्हें बेहतर साजोसामान की सप्लाई उपलब्ध है।' 

ADS

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
india ready to give answer to china in its own language over doklam standoff

-Tags:#Doklam Standoff#China#India#Indian Army#Ajit Doval

ADS

ADS

मुख्य खबरें

ADS

ADS

ADS

ADS

Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo