Breaking News
कर्नाटकः कुमारस्वामी के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुंची हिंदू महासभा, कहा-असंवैधानिक तरीके से बन रहे हैं मुख्यमंत्रीGoogle ने Doodle बनाकर महान समाज सुधारक राजा राम मोहन राय को दी श्रद्धांजलियूपीः योगी के मंत्री के बेटे ने दी धमकी,कहा- महिलाओं को गलत तरीके से छूनेवालों के हाथ काट दूंगापूर्व प्रधानमंत्री देवगौड़ा का कांग्रेस को लेकर बड़ा खुलासा, बोले- हमने दिया था उन्हें सीएम का ऑफर'निपाह वायरस' का कहर, केरल के कोझिकोड में अब तक 16 लोगों की मौतरोटोमैक घोटाला: CBI ने विक्रम कोठारी के खिलाफ दायर की चार्जशीट, रोटोमैक की होगी नीलामीकर्नाटक में अभी बाकी है 'नाटक', किसे कौन सा मंत्रालय मिलेगा, आज होगा तयकर्नाटक में अभी बाकी है 'नाटक', किसे कौन सा मंत्रालय मिलेगा, आज होगा तय
Top

डोकलाम विवाद के बाद चीन से निपटने के लिए भारत ने बनाया ये मास्टरप्लान

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Oct 14 2017 2:53AM IST
डोकलाम विवाद के बाद चीन से निपटने के लिए भारत ने बनाया ये मास्टरप्लान

सीमा सुरक्षा को मजबूत करने के लिहाज से आर्मी कमांडरों की कॉन्फ्रेंस में एक फैसला लिया गया। इसके तहत भारत-चीन सीमा से लगे नीति, लिपुलेख, थांगला 1 को सड़क से जोड़ा जाएगा। 

इसे 2020 तक पूरा करने की योजना है। इसमें सड़क सीमा संगठन (BRO) को अतिरिक्त धन मुहैया कराने का भी फैसला किया गया है ताकि सड़क और अन्य ढांचे को मजबूत बनाया जा सके। 

यह फैसला डोकलाम विवाद के बाद भारत की चौकसी के तौर पर देखा जा रहा है। बता दें कि भारत चीन की सरहदों से लगती करीब 4 हजार किलोमीटर लंबी सीमा पर आधारभूत संरचना को बढ़ाने में जुट गया है। 

इसमें विवादित इलाके के नजदीक भी सड़क निर्माण शुरू होने वाला है। डायरेक्टर जनरल स्टाफ ड्यूटी ले. जनरल विजय सिंह ने कॉन्फ्रेंस में लिए गए फैसलों की जानकारी दी। इस कॉन्फ्रेंस में रक्षा मंत्रालय के कई शीर्ष अधिकारियों ने भी हिस्सा लिया।

ADS

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
india is to enhance infrastructure on indo china border

-Tags:#India China Border Dispute#BRO#Doklam Standoff

ADS

ADS

मुख्य खबरें

ADS

ADS

ADS

ADS

Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo