Hari Bhoomi Logo
मंगलवार, सितम्बर 19, 2017  
Top

चीन से तनाव के बीच भारत ने सीमा पर सड़क बनाने के काम में तेजी लाने का फैसला किया

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Aug 21 2017 3:09AM IST
चीन से तनाव के बीच भारत ने सीमा पर सड़क बनाने के काम में तेजी लाने का फैसला किया

चीन से गहराए तनाव के बीच सरकार ने सीमाओं पर सड़कें बनाने के काम में तेजी लाने का फैसला किया है। इसके लिए रक्षा मंत्रालय ने बॉर्डर रोड्स आर्गनाइजेशन (बीआरओ) के वित्तीय और प्रशासनिक अधिकार बढ़ा दिए हैं।

रक्षा मंत्रालय के तहत बीआरओ 2015 से सीमावर्ती इलाकों में दुर्गम जगहों को सड़क से जोड़ने के काम में जुटा हुआ है। मंत्रालय ने फैसला के अनुसार बीआरओ को अब तक जो अधिकार दिए गए थे, उसके मुताबिक चीफ इंजिनियर 10 करोड़ और एडीजी 20 करोड़ रुपए तक के विभागीय कार्य को प्रशासनिक मंजूरी दे सकता है।

इसे भी पढ़े:- डोकलाम विवाद: चीन की धमकी, आज करेगा भारत पर हमला, तीनों दिशाओं में भारतीय सेना तैनात

अनुबंध के आधार पर होने वाले कामों के लिए डीजी की मंजूरी जरूरी थी, जो 50 करोड़ रुपए तक के काम को प्रशासनिक मंजूरी दे सकता था। अब काम चाहे विभागीय स्तर का हो या अनुबंध के आधार पर, चीफ इंजिनियर को 50 करोड़ रुपये जबकि एडीजी को 75 करोड़ रुपए और डीजी को 100 करोड़ रुपए तक के काम को प्रशासनिक मंजूरी देने का अधिकार होगा।

अब चीफ इंजिनियर को 10 की जगह 100 करोड़ और एडीजी को 20 की जगह 300 करोड़ रुपये के कॉन्ट्रैक्ट पर अमल मंजूर करने का अधिकार होगा। 2 करोड़ रुपये तक की आउटसोर्सिंग चीफ इंजिनियर को, जबकि 2 से 5 करोड़ रुपये तक एडीजी को और उससे ज्यादा का अधिकार डीजी को होगा। 

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
india decided to accelerate work to build roads on the china border

-Tags:#India#China#Doklam controversy#Bro
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo