Breaking News
Top

हनीप्रीत से सच उगलवाने में पुलिस के छूट रहे पसीने, पंचकूला थाने से बठिंडा

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Oct 5 2017 2:42PM IST
हनीप्रीत से सच उगलवाने में पुलिस के छूट रहे पसीने, पंचकूला थाने से बठिंडा

पंचकूला की एक अदालत ने हनीप्रीत इंसां को डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को बलात्कार के मामले में दोषी ठहराए जाने के बाद हुई हिंसा के सिलसिले में छह दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया।

वहीं पंचकूला कोर्ट से 6 दिन की पुलिस रिमांड मिलने के बाद हरियाणा पुलिस लगातार हनीप्रीत से पूछताछ कर रही है। पूछताछ का जिम्मा पंचकूला की आईजी ममता सिंह ने संभाला है।

इसे भी पढ़ें: Exclusive: हनीप्रीत ने सुनाई आपबीती

इसी क्रम में पुलिस की एक टीम हनीप्रीत को लेकर पंचकूला सेक्टर 23 की चंडी मंडी थाने से सेक्टर 20 थाने पहुंची है। यहां से हनीप्रीत को बठिंडा ले जाया जाएगा।

प्रियंका तनेजा (36) उर्फ हनीप्रीत अदालत कक्ष में हाथ जोड़े खड़ी थी। उसने खुद को बेगुनाह बताया। उसकी आंखों में आंसू थे।

हनीप्रीत खुद को डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम की दत्तक पुत्री बताती है। उसे मंगलवार को पंजाब में जिरकपुर-पटियाला मार्ग से गिरफ्तार किया गया था।

मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट रोहित वत्स की अदालत में एक घंटे से अधिक समय तक चली सुनवाई के बाद हनीप्रीत के वकील एस के गर्ग नरवाना ने संवाददाताओं को बताया, हरियाणा पुलिस ने 14 दिन की रिमांड मांगी और दलीलों के बाद अदालत ने हनीप्रीत को छह दिन की पुलिस रिमांड में भेज दिया।

इसे भी पढ़ें: 38 दिन बाद पुलिस की गिरफ्त में आई हनीप्रीत, कहा- मुझे फंसाया जा रहा है

हनीप्रीत को कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच पंचकूला अदालत के समक्ष पेश किया गया। एक अन्य महिला सुखदीप कौर को भी छह दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया गया। सुखदीप को हरियाणा पुलिस ने हनीप्रीत के साथ गिरफ्तार किया था।

हनीप्रीत का नाम उन 43 लोगों की सूची में शीर्ष पर था जो हिंसा के सिलसिले में राज्य पुलिस द्वारा वांछित थे। हिंसा में 41 लोग मारे गए थे और कई अन्य घायल हुए थे। बचाव पक्ष के वकील ने कहा, पुलिस का दावा है कि 25 अगस्त को हिंसा भड़काने के लिये एक साजिश रची गई।हनीप्रीत किसी साजिश में शामिल नहीं थी।

कैसे वे साजिश में उसे फंसा सकते हैं। हनीप्रीत के वकील ने कहा, हनीप्रीत डेरा प्रमुख की दोषसिद्धि के बाद उनके साथ थी। किसी भी तरीके से वह हिंसा भड़काने में शामिल नहीं थी। अभियोजन पक्ष ने यह दावा करते हुए हनीप्रीत की 14 दिन की पुलिस रिमांड की मांग की कि वह मामले में कम से कम चार से पांच मुख्य आरोपियों को जानती थी।

पिछले दरवाजे से निकली

हनीप्रीत और सुखदीप कौर को चंडीमंदिर थाने से पंचकूला अदालत परिसर लाया गया। पुलिस हनीप्रीत और महिला को लेकर पंचकूला थाने के पिछले दरवाजे से कोर्ट के लिए निकली। कमांडो समेत सुरक्षाकर्मियों को अदालत परिसर और पुलिस थाने में तैनात किया गया था।

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo