Hari Bhoomi Logo
शनिवार, सितम्बर 23, 2017  
Top

पाकिस्तान: प्यार और पति को पाने के लिए युवती ने कोर्ट में पढ़ी नमाज

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Aug 27 2017 10:49AM IST
पाकिस्तान: प्यार और पति को पाने के लिए युवती ने कोर्ट में पढ़ी नमाज

पाकिस्तान की एक अदालत ने अपने फैसले में एक मुस्लिम पति को उसकी हिंदू पत्नी के साथ रहने की इजाजत तब देगी जब पत्नी ने कोर्ट में इकरार किया कि वह अपने प्यार को हासिल कर पति के साथ रहना चाहती है और उसने अपनी इच्छा से ही इस्लाम धर्म कबूला है।

मामले की सुनवाई करते हुए इस्लामाबाद उच्च न्यायालय के न्यायाधीश शौकत अजीज सिद्दीकी ने हिंदू धर्म छोड़कर इस्लाम अपनाने की बात को साबित करने के लिए मारिया से पूछा कि यदि उसे इस्लाम अपनाया है तो इस्लाम से उसने अब तक क्या-क्या सीखा। इस पर मारिया ने कोर्ट में नमाज अता की।

इसे भी पढ़ें- पाकिस्तान आतंकवादियों का एजेंट, अमेरिका भारत के साथ बढ़ाएगा साझेदारी: डोनाल्ड ट्रंप

असल में मारिया का हिन्दू नाम अनुशी था। इस्लाम कबूलने के बाद वह मारिया हो गई थी। मारिया ने कोर्ट में कहा कि धर्म बदलने के लिए उन पर कोई दबाव नहीं था। मारिया और उसके पति बिलावल अली भुट्टो ने मर्जी से शादी करने के कारण धमकी मिलने को लेकर उच्च न्यायालय से सुरक्षा की मांग की। इस पर कोर्ट ने पुलिस से दंपत्ति को सुरक्षा प्रदान कराने का भी आदेश दिया।

परिवार वालों ने किया था केस

अदालत ने फैसला सुनाने के बाद जब मारिया को अपने माता-पिता से मिलने को कहा तो उसने इंकार कर दिया। हालांकि, अदालत के आदेश पर न्यायाधीश के निजी सचिव के कार्यालय में उसने उन लोगों से करीब 40 मिनट की मुलाकात की।

इसे भी पढ़े:- उत्तर कोरिया ने दागे 3 मिसाइल, अमेरिका ने दिया ये मुंहतोड़ जवाब

एक्सप्रेस ट्रिब्यून की खबर के मुताबिक मारिया के परिवार वालों ने यह दावा किया था कि उनकी बेटी को पहले कथित तौर पर अगवा कर लिया गया और उसके बाद उसे इस्लाम धर्म अपनाने और एक मुस्लिम व्यक्ति से शादी करने के लिए मजबूर किया गया।

 
(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
hindu woman converted to islam in pak

-Tags:#Pakistan News#Hindu Girl#Islam Religion#Muslim
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo