Breaking News
Top

इन देशों में अजीब है इच्छा मृत्यु के कानून, जानकर रह जाएंगे हैरान

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Sep 30 2017 1:43PM IST
इन देशों में अजीब है इच्छा मृत्यु के कानून, जानकर रह जाएंगे हैरान

हर कोई व्यक्ति यहीं चाहता है कि मैं लम्बे समय तक जिंदा रहूं। लेकिन व्यक्ति के जीवन में कब कोई कितनी गम्भीर बीमारी हो जाएं, इसे कोई नहीं जानता हैं। गम्भीर बीमारी से परेशान व्यक्ति प्रकृति से मौत के लिए प्रर्थाना करता है। शायद इसी को देखते हुए, आधुनिक दुनिया के कुछ देशों ने इच्छा मृत्यु के लिए कानून बना दिए हैं।

यही है वे देश जिन्होंने अपने देश के लोगो को इच्छा से मरने के लिए कानून बनाएं है। कानून के मुताबिक असाध्य बीमारी से पी़ड़ित कोई भी व्यक्ति इच्छा मृत्यु को अपना सकता है, और डॉक्टर की मदद से मौत को गले लगा सकता है।

इसे भी पढ़ें: VIDEO: इस बच्चे के गले में विराजमान हैं सरस्वती, निकालता है हजारों आवाज

यूथेनेसिया- यहां के कानून का मानना है, कि अफ़ीम से बनने वाली कुछ दवाइयां देना, ताक़ि मरीज़ को राहत मिले, लेकिन बाद में उसकी मौत हो जाए। यह तरीक़ा इस देश में वैध माना जाता है।

कना़डा- यहां की सीनेट (संसद) में इस विवादित विधेयक को पारित किया गया। तो देश के सुप्रीम कोर्ट ने असाध्य बीमारी से पीडित लोगों को डॉक्टकों की मदद से मौत देने पर लगे प्रतिबंध को निरस्त कर दिया गया था। इसके बाद कनाडा की संसद को ये विधेयक लाना पडा था।

नीदरलैंड्स- यहां के कानून के मुताबिक डॉक्टरों के हाथों सक्रिय इच्छा मृत्यु और मरीज की मर्ज़ी से दी, जाने वाली मृत्यु पर दंडनीय अपराध नहीं माना जाता है।

इसे भी पढ़ें: VIDEO: जय और वीरू की तरह हैं इस बंदर और मुर्गी की दोस्ती

बेल्जियम- यहां के कानून के मुताबिक  इच्छा मृत्यु वैधानिक हो चुकी है। सितंबर 2002 में इस देश की संसद ने यह विधेयक पारित किया गया था। 

इन के अलावा भी स्विजरलैंड, अलबालिया,कोलंबिया और जापान, जैसे देशों में करीबी रिश्तेदारों या कानूनी उत्तराधिकारी की मंजूरी पर डॉक्टरों की मदद से इच्छमृत्यु की इजाजत है और अमेरिका के कुछ राज्यों में भी यह अमल में हैं।

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
hindi india euthanasia legalised countries

-Tags:#Latest News#Right of Dead in Law of Japan#America#Euthanasia#Wierd News
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo