Breaking News
Top

प्रद्युम्न हत्याकांड: इन 5 कारणों से उलझा रायन इंटरनेशनल स्कूल केस

नरेंद्र सांवरिया/नई दिल्ली | UPDATED Sep 15 2017 12:35PM IST
प्रद्युम्न हत्याकांड: इन 5 कारणों से उलझा रायन इंटरनेशनल स्कूल केस

गुरुग्राम के रायन इंटरनेशनल स्कूल में 7 साल के प्रद्युम्न ठाकुर की मौत का मामला दिन-ब-दिन उलझता जा रहा है। स्कूल के माली ने जो बयान दिया है उससे न सिर्फ आरोपी का कबूलनामा झूठ साबित होता है बल्कि पुलिस की अब तक की जांच भी शक के घेरे में आती है। रायन स्कूल का माली हरपाल स्कूल स्टाफ का वह पहला शख्स था जिसने प्रद्युम्न को खून से लथपथ पड़े देखा था। जानिए वो पांच कारण जिनकी वजह से उलझा रयान केस...

रयान स्कूल के माली ने दिया ये बयान

हरपाल ने अपने बयान में जो बताया है ‌उसमें उसने प्रद्युम्न को गैलरी में पड़ा होने की बात बताई है। उसने कहा कि बच्चा वॉशरूम के अंदर नहीं बल्कि बाहर गैलरी में पड़ा था। माली हरपाल ने बताया कि प्रद्युम्न की हत्या वाले दिन वह पानी पीने जा रहा था उसी समय वॉशरूम के बाहर बहुत से बच्चे चीख पुकार मचा रहे थे। उसने ये भी बताया कि वॉटर कूलर तक जाने के लिए वॉशरूम की तरफ से जाना पड़ता है। इसके बाद उसने देखा कि बच्चा गैलरी में खून से लथपथ पड़ा हुआ था।

घटना के समय मौजूद नहीं था बस कंडक्टर

यह बात माली ने ही प्रद्युम्न की क्लास टीचर अंजू मैडम को बताई थी। माली ने बताया कि इसके बाद प्रद्युम्न की क्लास टीचर आईं और माली से ही बच्चे को उठाने को कहा और अपने काम में लग गईं। इसके साथ ही माली हरपाल ने जो खुलासा किया है वो बेहद हैरान करता है। उसके अनुसार मुख्य आरोपी कंडक्टर अशोक घटना के वक्त वॉशरूम के आसपास भी मौजूद नहीं था। हरपाल ने बताया कि बाहर जाने के ल‌िए वॉटरकूलर की तरफ एक दरवाजा है अशोक वहीं से भीतर दाखिल हुआ था। उसने बताया कि तब अशोक के कपड़ों पर खून का कोई दाग नहीं था।माली ने ये भी बताया कि वह अशोक को काफी समय से जानता है और उसे नहीं लगता कि वह ऐसा कर सकता है।

पुलिस की थ्योरी पर पर उठे सवाल 

बता दें कि इससे पहले स्कूल के ड्राइवर ने भी मीडिया को बताया था कि स्कूल प्रबंधन ने उसे स्कूल के पक्ष में बयान देने के लिए मजबूर किया था। माली के खुलासे के बाद पुलिस की थ्योरी पर सवाल उठ रहे हैं। पुलिस ने कहा था कि आरोपी वॉशरूम के अंदर गलत काम कर रहा था, तभी प्रद्युम्न वहां पहुंचा, उसने उसके साथ कुकर्म करने की कोशिश की ज‌िसके बाद उसकी हत्या कर दी गई। हालांकि अब पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में यह बात सामने आई है कि प्रद्युम्न के साथ कोई कुकर्म नहीं हुआ था।

प्रद्युमन के दोस्त ने दिया ये बयान

प्रद्युमन के दोस्त ने बताया कि सभी बच्चे बाथरूम में कराटे की ड्रेस बदलने के लिए गए थे। उसी दौरान अशोक को उन्होनें बाथरूम में देखा था और थोड़ी देर बाद वाटर वह कूलर पर हाथ धोने के लिए आया था। उसके बाद जब प्रद्युम्न वापस नहीं लौटा तो मैं वॉशरूम की तरफ कॉरिडोर में गया तो देखा की खून बहुत तेजी से बह रहा था। फिर में वॉशरूम में नहीं गया। हमारे एग्जाम स्टार्ट होने वाले थे इसलिए मैं जल्दी से वहां से निकल गया। तो जाते जाते मैंने देखा कि एक मैड आ रही थी, पोंछा लेकर ताकि वह ब्लड साफ़ कर दे, फिर मैंने देखा उसके बाद क्या हुआ।

प्रद्युमन की मां ने दिया ये बयान

ज्योति ठाकुर ने कहा, असली गुनहगार बस कंडक्टर नहीं बल्कि स्कूल प्रशासन है, बस कंडक्टर का बाथरूम में क्या काम...? मेरे बेटे ने कुछ गलत होते देख लिया होगा इसीलिए उसकी हत्या कर दी गई। प्रिंसिपल इस मामले को दबाना चाहती हैं, इसकी सीबीआई जांच होनी चाहिए। बच्चे की मां ने बताया कि उन्होंने कभी भी अपने बेटे को स्कूल बस से स्कूल नहीं भेजा। हमेशा उसे स्कूल छोड़ने के लिए गए। वहीं छूट्टी होने पर खुद ही घर लेकर आए। 

रयान स्कूल के ड्राइवर सौरभ ने दिया ये बयान

ड्राइवर सौरभ ने कहा कि 7:50 पर हमने स्कूल में बस को पार्किंग में लगाया था, उसके बाद कंडक्टर कहां गया मुझे नहीं पता। ड्राइवर सौरभ कुमार ने कहा कि कंडक्टर अशोक कुमार शांत स्वाभाव का आदमी है, उसने ये सब किया विशवास नहीं होता, गौरतलब है कि इससे पहले प्रद्युमन की मां ज्योति ठाकुर ने भी अशोक को मामले में बेवजह घसीटने की बात कही थी। 

प्रद्युमन के पिता ने दिया ये बयान 

प्रद्युमन के पिता वरुण ने ने बंबई उच्च न्यायालय में रेयान इंटरनेशनल समूह के न्यासियों की अग्रिम जमानत याचिका का विरोध किया। ठाकुर ने अपने आवेदन में कहा है कि वह इस मामले में शिकायतकर्ता हैं और न्यासियों की याचिकाओं का ‘‘विरोध सबसे कड़े तरीके और शब्दों में करते हैं, क्योंकि यह मामला दुलर्भ से दुलर्भतम की श्रेणी में आता है जहां रेयान इंटरनेशनल स्कूल के परिसर में बिना किसी उकसावे के क्रूर, पैशाचिक, सोची-समझी चाल के तहत, वीभत्स, शैतानी, अक्षम्य हत्या हुई है।

उपराज्यपाल अनिल बैजल ने दिया ये बयान

दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने दिल्ली सरकार व दिल्ली पुलिस को स्कूलों में बच्चों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए कहा है। उपराज्यपाल ने उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया को एक पत्र लिखकर कहा है कि स्कूलों में बच्चों की सुरक्षा के लिए आवश्यक दिशा निदेर्शों को तुरंत लागू करें। उपराज्यपाल ने सरकार से कहा है कि वह स्कूलों में लागू होने वाली सुरक्षा दिशा निदेर्शों की पूरी जानकारी पुलिस आयुक्त को भेजे। क्योंकि आयुक्त ने बताया है कि उन्हें इस बारे में पूरी जानकारी नहीं है। लेकिन पुलिस अपनी ओर से हर संभव स्कूली बच्चों को सुरक्षित रखना चाहती है। उपराज्यपाल ने पत्र में लिखा है कि पुलिस अधिकारी स्कूलों का दौरा करेंगे और वहां के सुरक्षा मानकों को देखेंगे। 

कोर्ट ने कही ये बड़ी बात 

कोर्ट ने कहा कि यह एक स्कूल का मामला नहीं, बल्कि यह देश से जुड़ा मामला है। गौरतलब है कि बच्चे के पिता वरुण ठाकुर ने कोर्ट में अपील कर सीबीआई जांच की मांग की थी। वरुण के वकील के मुताबिक, 'हमने कहा है कि स्कूल की कमियों पर उसकी जिम्मेदारी तय की जाए। आयोग या ट्रिब्यूनल बनाया जाए।' कोर्ट ने रेयान इंटरनेशनल स्कूल को भी नोटिस जारी किया है।

ये है रयान स्कूल का मामला

गुड़गांव के रेयान इंटरनेशनल स्कूल में 8 सितंबर को 7 साल के बच्चे की हत्या कर दी गई थी। शव शौचालय में मिला था। इस मामले में पुलिस ने स्कूल बस के कंडक्टर अशोक कुमार को गिरफ्तार किया था। आरोपी अशोक 8 महीने पहले ही स्कूल में कंडक्टर की नौकरी पर लगा था।

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
gurugram ryan international school case 5 reasons entangle

-Tags:#Gurugram#Ryan International School#Crime News#Supreme Court
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo