Breaking News
Top

गुमनामी बाबा ही थे नेताजी सुभाष चंद्र बोस, ये है सबूत!

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Sep 23 2017 12:09PM IST
गुमनामी बाबा ही थे नेताजी सुभाष चंद्र बोस, ये है सबूत!

आपने पहले ये खबर सुनी होगी कि गुमनामी बाबा ही नेताजी सुभाष चन्द्र बोस थे। तब आपको लगा होगा कि ये एक अफवाह है। 

 
2016 के जून में एक कमीशन का गठन इस बात की जांच के लिए हुआ था। उस कमीशन का नाम जस्टिस विष्णु सहाय है। सहाय कमीशन ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि जितने भी लोग गवाह के तौर पर मेरे सामने आए उन्होंने यही कहा कि गुमनामी बाबा ही सुभाष चन्द्र बोस थे।
 
 
जस्टिस सहाय ने यह रिपोर्ट उत्तरप्रदेश के राज्यापाल राम नायक को सौंपी। उन्होंने बताया कि जो भी गवाह मेरे सामने आए या जितने भी दस्तावेज सामने आए उन सब से यही पता लगा कि गुमनामी बाबा ही सुभाण चन्द्र बोस था। उन्होंने कहा कि ज्यादातर लोगों ने यहा गवाही दी कि गुमनामी बाबा ही नेताजी सुभाष चन्द्र बोस थे।
 
 
उन्होंने राज्यपाल को 347 पृष्ठों की रिपोर्ट सौंपी। जस्टिस सहाय ने कहा कि गुमनामी बाबा की मौत के सुनवाई में काफी समय लग गया। उन्होंने कहा कि गुमनामी बाबा की मौत 1985 में हुई और गवाह 2017 तक बयान देने सामने आए। इसमें लगभग 30 वर्षों का लंबा समय है।
 
गौरतलब है कि सहाय ने गुमनामी बाबा की मौत के बाद उनके सामानों की जांच की। सामानों में आजादी से पहले के कुछ नक्शे और वो कलम मिली जिसके बारे में लोगों ने दावा किया कि वो नेता जी सुभाष चन्द्र बोस की थीँ।
(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
gumnami baba was netaji subhash chandra bose said sahai commission

-Tags:#Gumnami Baba#Netaji Subhash Chandra Bose#Sahai Commission
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo