Breaking News
Top

गुजरात जनचेतना मंच ने वीवीपैट वोटिंग मशीन को लेकर सुप्रीम कोर्ट में दायर की याचिका

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Nov 10 2017 8:39PM IST
गुजरात जनचेतना मंच ने वीवीपैट वोटिंग मशीन को लेकर सुप्रीम कोर्ट में दायर की याचिका

गुजरात के आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर जहां प्रदेश में सियासत तेज हो गई है, वहीं प्रदेश में इस्तेमाल होने वाली वीवीपैट वोटिंग मशीन को लेकर भी सवाल उठाए जा रहे हैं। पहले दौरे की परीक्षण में करीब 3000 मशीनें खराब पाई गईं थीं। चुनाव आयोग ने इन्हें दुरुस्त करने का भरोसा दिया है। 

यह भी पढ़ें: ऑड-ईवन के दौरान डीटीसी की बसों में मुफ्त सफर होने से मेट्रो को मिलेगी राहत

लेकिन, अब वीवीपैट वोटिंग मशीनों में मतों की गिनती को लेकर पेंच फंसा है। इसी को लेकर गुजरात की क्षेत्रीय पार्टी गुजरात जनचेतना मंच ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की है। 

यह भी पढ़ें:किसानों ने पराली जलाई तो जिम्मेदार अधिकारियों की कटेगी सैलरी : एनजीटी

गुजरात जनचेतना मंच के नेता ने अपनी याचिका में नियम 56 (2) D को चैलेंज किया है। इस नियम के तहत रिटर्निंग ऑफिसर को यह अधिकार है कि वह वीवीपैट की वोटिंग की गणना करे या ना करे। 

पढ़ें: 'पद्मावती' पर आचार्य धर्मेंद्र का शाह को खत, लिखा- भंसाली का यह कुकर्म अक्षम्य अपराध

याचिकाकर्ता ने उच्चतम न्यायालय में अपनी याचिका में गुजारिश की है कि इस नियम को खारिज किया जाना चाहिए। यह नियम 2013 के सुप्रीम कोर्ट के उस आदेश का उल्लंघन करता है, जिसमें वीवीपैट की पेपर ट्रेल की गणना को जरुरी ठहराया गया है। 

यह भी पढ़ें: 'पद्मावती' बनाने के पीछे विदेशी ताकतों का हाथ, भंसाली की जांच हो: स्वामी 

सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में सुनवाई के लिए याचिका को मंजूर कर लिया है। मामले की अगली सुनवाई 20 नवंबर को होगी। इसके साथ ही कोर्ट ने कहा है कि याचिका की कॉपी चुनाव आयोग को भी सौंपी जाए।

पढ़ें: जेटली ने किया जीएसटी दरों में बदलाव, 18 फीसदी दर की स्लैब में आईं 178 वस्तुएं

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
gujarat election 2017 vvpat voting machine case reaches in supreme court ec on target

-Tags:#Gujarat Election 2017#Assembly Election 2017#VVPAT Voting Machine#Supreme Court#Election Commission
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo