Breaking News
उत्तराखंड: चमोली में बादल फटने की वजह से भूस्खलन, अलर्ट जारीNo Confidence Motion: गिरिराज सिंह ने राहुल गांधी पर ली चुटकी, बोले- भकूंप के मजे के लिए तैयारDaati Maharaj Case: कोर्ट ने CBI जांच वाली याचिका पर जारी किया नोटिस, मांगा जवाबमानसून सत्र 2018ः No Confidence Motion पर संसद में बहस जारीNo Confidence Motion: कांग्रेस को मिले समय पर खड़गे ने उठाए सवाल, कहा- 130 करोड़ लोगों के लिए 38 मिनट पर्याप्त नहींNo Confidence Motion: शिवसेना ने किया वहिष्कार, कहा- सदन की कार्यवाही में नहीं लेंगे हिस्साअविश्वास प्रस्ताव को प्रश्नकाल की तरह समय देने पर मल्लिकार्जुन खड़गे ने उठाए सवालमोदी सरकार की पहली 'परीक्षा' के लिए राहुल गांधी के 'भूकंप' लाने वाले सवाल लीक
Top

जीएसटी टैक्स घटने से केंद्र पर बढ़ा बोझ, अब इतने करोड़ा का होगा नुकसान, ये हुआ सस्ता

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Nov 10 2017 4:05PM IST
जीएसटी टैक्स घटने से केंद्र पर बढ़ा बोझ, अब इतने करोड़ा का होगा नुकसान, ये हुआ सस्ता

असम की राजधानी गुवाहाटी में जीएसटी काउंसिल की बैठक पर मंथन किया जा रहा है। बैठक में टैक्स समेत कई चीजों को कम करने के लिए कुछ अहम फैसले लिये जा रहे हैं। 

खबर है कि जीएसटी बैठक में 50 चीजों 28 फीसदी टैक्स लगेगा, तो वहीं 177 चीजों पर 18 फीसदी टैक्स लगेगा। बता दें कि रोजमर्रा की जिंदगी में इस्तेमाल की जाने वाली कई चीजें सस्ती हो सकती हैं।

इसे भी पढ़ें: GST पर मिली बड़ी राहत, लिस्ट में देखिए कौन सी चीजें हुईं सस्ती

इतने करोड़ का होगा नुकसान

वहीं जीएसटी टैक्स घटने के बाद केंद्र सरकार पर इसका सीधा बोझ पड़ेगा। एक रिपोर्ट के मुताबिक, जीएसटी दरें घटने का पूरा असर अभी कहना मुश्किल है, लेकिन जीएसटी दरें घटने से राजस्व में कमी आने का अनुमान है।

क्योंकि टैक्स बेस बढ़ने से राजस्व में कमी अनुमान से कम होना स्वाभाविक है। ऐसे में जीएसटी में टैक्स की दर कम करने से सरकार पर 20 हजार करोड़ का बोझ पड़ेगा। 

शुरुआत में मिला इतना राजस्व

बता दें कि सरकार को शुरुआती 3 महीने में 2.78 लाख करोड़ का राजस्व मिला था। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, कुल 47 लाख कारोबारियों ने जीएसटीआर-1 दाखिल किया और इसके अलावा कुल 21 लाख कारोबारियों ने जीएसटीआर-2 दाखिल किया था।  

जीएसटी में इस बदलावों के जरिए सरकार ग्राहकों को राहत देना चाहती है। सूत्रों का कहना है कि केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली की अध्यक्षता वाली परिषद इस नई कर प्रणाली के कार्यान्वयन के चार महीने बाद इसके दरों में सबसे बड़ी फेरबदल कर सकती है।

इसे भी पढ़ें: प्रद्युम्न हत्याकांड: आरोपी छात्र के माता-पिता बोले- हमारा बच्चा नहीं कर सकता हत्या, बताई वजह

ये हुआ सस्ता

साबुन, डिटरजेंट, हाथ घड़ी, ग्रेनाइट, मारबल, शैंपू, आफ्टर शेव, स्किन केयर, डियोड्रेंट, कैमरे, वॉलेट, शॉपिंग बैग, सूटकेस, च्युइंगम, चॉकलेट आदि कई प्रोडक्ट्स पर टैक्स दर को कम कर दिया गया है।

ADS

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
gst tax reduction will cause loss of crores to central government

-Tags:#GST#Tax#Central Goverment#Asam#Council

ADS

ADS

मुख्य खबरें

ADS

ADS

ADS

ADS

Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo