Breaking News
उत्तर प्रदेश: जौनपुर में सड़क दुर्घटना में एक ही परिवार के तीन लोगों की मौतमध्य प्रदेश: छतरपुर में पुलिस कांस्टेबल की गोली मारकर हत्या, 2 आरोपी गिरफ्तार, जांच जारीकानपुर: मुलगंज में एक प्लास्टिक गोदाम में भीषण आग, बचाव और राहत कार्य जारीबिहार: पंचायत ने एक व्यक्ति को सरेआम थूक चटवाया और चप्पलों से पिटवाया, सामने आया मामलाबिहार: डॉक्टर की हत्या को लेकर समस्तीपुर में भारी बवाल, 20 गाड़ियां आग के हवालेकेदारनाथ पहुंचे पीएम मोदी, जनसभा को करेंगे संबोधितचिदंबरम के ट्वीट पर बोले गुजरात सीएम- चुनाव से डर रही कांग्रेसतमिलनाडु: नागपट्टिनम में बस डिपो रेस्ट रुम की छत गिरने से 8 की मौत
Top

प्रद्युम्न जैसे मामले रोकने के लिए अब सरकार लेगी सेना की मदद

कविता जोशी/नई दिल्ली | UPDATED Sep 26 2017 3:41AM IST
प्रद्युम्न जैसे मामले रोकने के लिए अब सरकार लेगी सेना की मदद

सितंबर महीने की शुरूआत में गुरुग्राम के रॉयन इंटरनेशनल स्कूल में हुई दूसरी कक्षा के छात्र प्रद्युम्न ठाकुर की हत्या के बाद बच्चों की सुरक्षा को चाक-चौबंद बनाए जाने के लिए सरकार एक बड़ा कदम उठाने की तैयारी कर रही हैं। 

जारी चर्चाओं के बीच स्कूलों में साइकोमेट्रिक टेस्टकराने का एक सुझाव सिक्योरिटी सेक्टर स्किल डेवलपमेंट काउंसिल (एसएसएसडीसी) ने सीबीएसई और एमएचआरडी मंत्रालय को भेजा है। 

काउंसिल का कहना है कि इस टेस्ट के सभी स्कूलों में लागू होने के बाद टीचिंग, नॉन-टीचिंग स्टाफ में उपर्युक्त लोगों की नियुक्ति करने में आसानी होगी और प्रद्युम्न जैसी घटनाओं को रोकने में भी मदद मिलेगी।

एसएसएसडीसी के समक्ष साइकोमैट्रिक टेस्ट का विचार सशस्त्र सेनाओं (थलसेना, वायुसेना, नौसेना) में अधिकारियों की भर्ती के लिए होने वाली चयन प्रक्रिया से लिया गया है। 

जिसे देश में साइकोलॉजिकल टेस्ट के नाम से जाना जाता है। यहां बता दें कि एसएसएसडीसी, स्किल डेवलपमेंट मंत्रालय की सुरक्षा प्रशिक्षण प्रदान करने वाली एक शाखा है। 

भारत के लिए नया विचार 

एसएसएसडीसी अध्यक्ष कुंवर विक्रम सिंह ने हरिभूमि से बातचीत में कहा कि भारत में रोजगार से जुड़े तमाम क्षेत्रों में नियुक्ति से पहले इस तरह के टेस्ट करना एक बिलकुल नया विचार है। 

यह प्रक्रिया अबतक केवल सेनाओं में ही अपनाई जाती रही है। इसी को आधार बनाकर हमने स्कूलों को एक बेहद ठोस सुरक्षा कवच प्रदान करने की पहल केंद्र के संबंधित विभागों से की है। 

उनके स्तर पर अभी इसपर विचार किया जा रहा है। लेकिन कुछ निजी स्कूलों की तरफ से काउंसिल को यह टेस्ट उनके यहां कराने के लिए संपर्क किया गया है। 

इसमें दिल्ली का बाल भारती स्कूल मुख्य रूप से शामिल है। यह टेस्ट स्कूलों के माहौल को पूर्ण सुरक्षित होने का सर्टिफिकेट प्रदान करता है।  

टेस्ट की खासबात 

साइकोमैट्रिक टेस्ट पूरी तरह से वैज्ञानिक पद्वति पर आधारित है। जिसकी मदद से किसी व्यक्ति की मानसिक, व्यवहारिक, चारित्रिक व बौधिक क्षमताओं का सटीक आकलन किया जा सकता है। 

इसे स्कूलों में शिक्षकों से लेकर सुरक्षा गार्ड, माली, बस ड्राइवर, कंडक्टर व छोटे बच्चों की आया जैसी तमाम नियुक्तियों में अपनाकर सही लोगों की भर्ती की जा सकती है, जिससे प्रद्युम्न जैसे मामलों को रोका जा सकेगा। 

काउंसिल ने इसका खाका एक प्रश्नपत्र के रूप में तैयार किया है, जिसे नियुक्ति के समय प्रतिभागी को पूरा करना होगा। काउंसिल ने कहा कि सीबीएसई के लिए टेस्ट पेपर व ट्रेनिंग की व्यवस्था वह स्वयं करेगी।                  

सेवानिवृत अधिकारी, जवान करेंगे मदद 

एसएसएसडीसी अध्यक्ष ने कहा कि अभी काउंसिल ने सेना के तीनों अंगों में इस टेस्ट के संबंध में सेवानिवृत अधिकारियों व जवानों को प्रशिक्षण देने का कार्य शुरू किया है। 

लेकिन भविष्य में अवसर मिलने पर यह लोग इसका इस्तेमाल स्कूलों की मदद करने के लिए भी कर सकते हैं। 

काउंसिल ने सेना के 15 रेजीमेंटल सेंटर्स पर हाल ही में सेवानिवृत होने वाले कुल करीब ढाई हजार जवानों, अधिकारियों को सिक्योरिटी ट्रेनर, सिक्योरिटी जांचकर्ता का प्रशिक्षण दिया है। 

नौसेना के 400 अधिकारियों, नाविकों को कोच्चि में काउंसिल की ओर से प्रशिक्षण दिया जा चुका है। जल्द ही वायुसेना के लिए भी प्रशिक्षण कार्य की शुरूआत की जाएगी। 

जैसे ही काउंसिल को सीबीएसई, एमएचआरडी का ग्रीन सिग्नल मिलेगा। वह इन लोगों को स्कूलों में सिक्योरिटी ऑडिटर के रूप में मदद देने के लिए भेजना शुरू कर देगी। काउंसिल के इस कदम से सेवानिवृति के बाद इन लोगों के लिए रोजगार के अवसर भी खुलेंगे। 

काउंसिल ने एमएचआरडी मंत्रालय को इस बात का सुझाव भी दिया है कि इस काम के लिए स्नातक कर चुके उन छात्र-छात्राओं की भी मदद ली जा सकती है, जिनका संबंध स्कूली स्तर पर एनसीसी से रहा है। सेनाओं में हर वर्ष 60 हजार लोग सेवानिवृत होते हैं।   

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
govt orders psychometric test to appoint staff in school

-Tags:#Gurugram#Ryan International School#Pradyumna Thakur#Pradyumna Murder Case
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo