Breaking News
Top

Gandhi Jayanti 2017: ‘राष्‍ट्रपिता’ नहीं हैं गांधी जी

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Oct 1 2017 3:54PM IST
Gandhi Jayanti 2017: ‘राष्‍ट्रपिता’ नहीं हैं गांधी जी

भारत के राष्ट्रपिता कहे जाने वाले महात्मा गांधी को बेशक जनता ‘राष्‍ट्रपिता’ कहती हो, लेकिन भारत सरकार उन्हें राष्ट्रपिता नहीं मानती। यह जानकारियां केंद्र सरकार से सूचना के अधिकार (आरटीआई) के तहत मिली हैं।

2 अक्टूबर 2017 सोमवार को महात्‍मा गांधी 148वीं जयंती है। लेकिन आजादी के 70 साल बाद भी गांधी जी को आधिकारिक रूप से राष्ट्रपिता का दर्जा नहीं दिया गया है। 

हरियाणा के मेवात में रहने वाले राजुद्दीन जंग ने जुलाई 2012 में प्रधानमंत्री कार्यालय में आरटीआई लगाईं थी, जिसके बाद ये बड़ा खुलासा हुआ कि महात्‍मा गांधी को राष्‍ट्रपिता की उपाधि नहीं दी गई। 

गौरतलब है कि 1944 में नेताजी सुभाषचंद्र बोस ने सबसे पहले रेडियो के माध्यम से एक संबोधन में गांधी जी को 'राष्ट्रपिता' कहकर सम्बोधित किया था। 

गांधी जी के जीवन से जुड़ी ख़ास बातें

2 अक्टूबर 1869 को गुजरात के पोरबंदर में जन्में भारत के राष्ट्रपिता मोहन दास करमचंद गांधी सत्य और अहिंसा में अटूट आस्था के लिए आज भी इतिहास के पन्नों में अमर हैं। 

महात्मा गांधी जीवन में कभी अमेरिका नहीं गए और ना ही कभी एयर प्लेन में बैठे थे। जबकि साल 1931 की इंग्लैंड यात्रा के दौरान महात्मा गांधी ने पहली बार रेडियो पर भाषण दिया था, ये भाषण उनका अमेरिका के लिए था। 

इसे भी पढ़ें: गांधी जयंती: ये हैं गांधीजी के 10 अनमोल वचन

1948 में पुरूस्कार मिलने से पहले ही उनकी हत्या हो गई। परिणाम स्वरुप नोबल कमेटी ने पुरुस्कार उस साल किसी को नहीं दिया था।

गांधी जी की शवयात्रा को आजाद भारत की सबसे बड़ी शवयात्रा कहा गया था। उनकी शवयात्रा में करीब दस लाख लोग साथ चल रहे थे और 15 लाख से ज्यादा लोग रास्ते में खड़े हुए थे।

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
gandhi jayanti 2017 not mahatma gandhi father of the nation

-Tags:#Gandhi Jayanti 2017#Gandhi Jayanti In Hindi
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo