गैजेट

जानें कैसे यह उड़ता ड्रोन उड़ा लेगा आपके कंप्यूटर से डाटा

By haribhoomi.com | Feb 24, 2017 |
drone
नई दिल्ली. वैज्ञानिकों ने हैकिंग की एक ऐसी तकनीक खोज निकाली है जिससे कंप्यूटर का संवेदनशील डाटा ड्रोन के जरिए चुराया जा सकेगा। इस तकनीक में कंप्यूटर की एलईडी लाइट डाटा चुराने के अहम जरिया बनेगी। इजराइल की ‘बेन गुरियन यूनिवर्सिटी’ के खोजकर्ताओं ने डाटा हैक करने वाली इस नई तकनीक को खोजा है। इनका दावा है कि इन्होंने कंप्यूटर की एलईडी लाइट के जरिए डाटा चुराने वाला मॉडल तैयार किया है। डाटा चुराने की इस अत्याधुनिक कला का इस्तेमाल इससे पहले कभी नहीं हुआ है।
 
 
ऐसे कंप्यूटर का डाटा चुराएगा ड्रोन
ड्रोन के जरिए कंप्यूटर का डाटा चुराने के लिए हैकर को सबसे पहले टारगेट किए गए कंप्यूटर में पेन ड्राइव या यूएसबी केबल के जरिए मालवेयर वायरस अपलोड करना होगा। वायरस अपलोड होने के बाद कंप्यूटर की एलईडी लाइट अपनी रोशनी से एक कोड बना देगी जिसे विज्ञान की भाषा में ‘मोर्स कोड’ कहा जाता है। इसके बाद रिमोट के जरिए उड़ाया जा रहा ड्रोन दूर से ही संवेदनशील कंप्यूटर को सर्च कर लेगा। यह ड्रोन एक खास स्कैनर से लैस होगा जो एलईडी लाइट द्वारा बनाए गए मोर्स कोड को पढ़ने में सक्षम होगा। ड्रोन के दायरे में आते ही संवेदनशील कंप्यूटर उससे जुड़ जाएगा और डाटा भेजने लगेगा। खोजकर्ताओं ने इस मॉडल को ‘एयर गैप’ नाम दिया है। उनका कहना है कि डाटा चोरी करने की प्रक्रिया के दौरान यदि कोई व्यक्ति ड्रोन और कंप्यूटर की कनेक्टिविटी के बीच आ जाता है तब भी दोनों के बीच कनेक्शन नहीं टूटेगा।
 
4000 बिट प्रति सेकेंड की रफ्तार से डाटा ट्रांसफर करता है
एयर गैप मॉडल के जरिए कंप्यूटर में मौजूद बड़ी से बड़ी फाइल को सेकेंडों में चोरी किया जा सकता है। खोजकर्ताओं का कहना है कि यह 4000 बिट प्रति सेकेंड की रफ्तार से डाटा ट्रांसफर करता है। यानी पलक झपकते ही कंप्यूटर से कई अहम और बड़ी फाइलें चुराई जा सकती हैं। डाटा चुराने वाले ड्रोन को कंप्यूटर के ज्यादा करीब जाने की भी जरूरत नहीं है। यह कई मीटर की दूरी से ही कंप्यूटर से संपर्क स्थापित कर डाटा चोरी करने में माहिर है। घर, ऑफिस या बिल्डिंग में रखे कंप्यूटर का डाटा इस ड्रोन की नजर से बच नहीं पाएगा।
 
डाटा चोरी होने पर एलईडी से मिलेगा संकेत
 
एयर गैप मॉडल को तैयार करने वाले इन विद्वानों ने इससे बचने की तरकीब भी निकाल ली है। इन्होंने हार्ड ड्राइव में लगने वाली एक छोटी सी एलईडी लाइट को डिजाइन किया है। जब भी कोई व्यक्ति एयर गैप मॉडल के जरिए आपके कंप्यूटर से डाटा चुराने का प्रयास करेगा तब यह एलईडी लाइट तेजी से टिम-टिमाकर यूजर को खतरे का संकेत दे देगी। डाटा चोरी होने का संकेत देने वाली एलईडी लाइट पर नजर पड़ते ही यूजर को जल्दी से हरकत में आना होगा। इस दौरान यूजर को सबसे पहले कंप्यूटर की रनिंग फाइल को ‘एंड प्रोसेस’ करना होगा। फिर कंप्यूटर को इंटरनेट कनेक्शन सर्विस से बिल्कल अलग करना होगा और इसके बाद अपने चालू कंप्यूटर या लैपटॉप को तुरंत बंद करना पड़ेगा। 

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

  • Post a comment
  • Name *
  • Email address *

  • Comments *
  • Security Code *
  • AAQAY
  •       
    कमेंट्स कैसे लिखें !
    जिन पाठकों को हिन्दी में टाइप करना आता है, वे युनीकोड मंगल फोंट एक्टिव कर हिन्दी में सीधे टाइप कर सकते हैं। जिन्हें हिन्दी में टाइप करना नहीं आता वे Roman Hindi यानी कीबोर्ड के अंग्रेजी अक्षरों की मदद से भी हिन्दी में टाइप कर सकते हैं। उदाहरण के लिए यदि आप लिखना चाहें- “भारत डिफेंस कवच एक उपयोगी पोर्टल है’, तो अंग्रेजी कीबोर्ड से टाइप करें, bharat defence kavach ek upyogi portal hai. हर शब्द के बाद स्पेस बार दबाएंगे तो अंग्रेजी का अक्षर हिन्दी में टाइप होता चला जाएगा। यदि आप अंग्रेजी में अपने विचार टाइप करना चाहें तो वह विकल्प भी है।
    Haribhoomi
    Haribhoomi on Social Media
    ऐसा झटका, कहीं अपना मानसिक संतुलन न खो दें गोविंदा

    ऐसा झटका, कहीं अपना मानसिक संतुलन न खो ...

    फिल्म का बजट 22 करोड़ था लेकिन फिल्म ने दो दिनों में 50 लाख का कलेक्शन किया है।

    सिंगर अभिजीत ने कहा- तीनों खान हैं देशद्रोही, फिल्मों में बजावा रहे हैं मौला-मौला

    सिंगर अभिजीत ने कहा- तीनों खान हैं ...

    अभिजीत ने आगे कहा कि शिरीष जान बूझकर सिर्फ हिन्दुओं को ही टार्गेट करते हैं।

    अनुष्का शर्मा की फिल्म 'फिल्लौरी' सिनेमाघरों में हुई सुस्त, जानिए कितने कमाए

    अनुष्का शर्मा की फिल्म 'फिल्लौरी' ...

    फिल्लौरी एक रोमांटिक कॉमेडी फिल्म है जिसमें अनुष्का एक फ्रेंडली भूत बनी हैं।