Breaking News
उत्तराखंड: चमोली में बादल फटने की वजह से भूस्खलन, अलर्ट जारीNo Confidence Motion: गिरिराज सिंह ने राहुल गांधी पर ली चुटकी, बोले- भकूंप के मजे के लिए तैयारDaati Maharaj Case: कोर्ट ने CBI जांच वाली याचिका पर जारी किया नोटिस, मांगा जवाबमानसून सत्र 2018ः No Confidence Motion पर संसद में बहस जारीNo Confidence Motion: कांग्रेस को मिले समय पर खड़गे ने उठाए सवाल, कहा- 130 करोड़ लोगों के लिए 38 मिनट पर्याप्त नहींNo Confidence Motion: शिवसेना ने किया वहिष्कार, कहा- सदन की कार्यवाही में नहीं लेंगे हिस्साअविश्वास प्रस्ताव को प्रश्नकाल की तरह समय देने पर मल्लिकार्जुन खड़गे ने उठाए सवालमोदी सरकार की पहली 'परीक्षा' के लिए राहुल गांधी के 'भूकंप' लाने वाले सवाल लीक
Top

चीन ने फिर दी भारत को धमकी, कहा- सेना वापस बुलाए, नहीं तो मरने के लिए तैयार रहे

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Jul 20 2017 11:19AM IST
चीन ने फिर दी भारत को धमकी, कहा- सेना वापस बुलाए, नहीं तो मरने के लिए तैयार रहे

पिछले एक महीने से ज्यादा समय से सिक्किम सीमा से सटे डोकलाम में जारी भारत-चीन सैन्य गतिरोध खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। चीन की ओर से बार-बार भारतीय सेना को पीछे हटने की धमकी दी जा रही है। 

लेकिन इस बार चीन के पूर्व राजदूत लियू योउफा ने भारत को गीदड़ भभकी देते हुए कहा कि डोकलाम में जारी विवाद मद्देनजर भारत के पास सिर्फ तीन ही रास्ते हैं। 

इसे भी पढ़ें:- डोकलाम में बॉर्डर पर भारत-चीन तनाव का कारण हिंदू राष्ट्रवाद: चीनी मीडिया

उन्होंने कहा कि भारत सरकार अपनी सेना वापस बुलाए, या डोकलाम पर कब्जा करे या फिर मरने के लिए तैयार हो जाए। मुंबई में कांसुल जनरल रह चुके पूर्व चीनी राजदूत लियू योउफा ने बुधवार को पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि भारत को धमकी दिया है। 

वहीं मंगलवार से भारत-चीन सीमा पर हलचल और तेज हो गई है। सीमा से सटे पोस्टों पर दोनों तरफ से सेना की तैनाती और बढ़ाई जा रही है। 

इसे भी पढ़ें:- डोकलाम विवादः चीन की अतिक्रमण की बढ़ती प्रवृत्ति का हिस्सा

क्या भारत-चीन डोकलाम सीमा विवाद

बता दें कि भारत-चीन के बीच कुल 3500 किलोमीटर लंबी सीमा रेखा है। मौजूदा सीमा विवाद भारत-भूटान और चीन सीमा के मिलान बिन्दु से जुड़ा हुआ है। 

सिक्किम में भारतीय सीमा से सटे डोकलाम पठार है, जहां चीन सड़क निर्माण कराने पर आमादा है। भारतीय सैनिकों ने पिछले दिनों चीन की इस कोशिश का विरोध किया था। 

डोकलाम पठार का कुछ हिस्सा भूटान में भी पड़ता है। भूटान ने भी चीन की इस कोशिश का विरोध किया। भूटान में यह पठार डोक ला कहलाता है, जबकि चीन में डोकलांग। भूटान और चीन के बीच कोई राजनयिक संबंध नहीं है। भूटान को अक्सर ऐसे मामलों में भारतीय सैन्य और राजनयिक सहयोग मिलता रहा है। 

ADS

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
former chinese ambassador liu yuufa says india three option in doklam issue

-Tags:#India China Docmal Border Issue#Indian Army

ADS

ADS

मुख्य खबरें

ADS

ADS

ADS

ADS

Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo