Breaking News
Top

जेटली का बड़ा खुलासा: इसलिए किसी को नहीं बताया था नोटबंदी के बारे में

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Oct 12 2017 3:48AM IST
जेटली का बड़ा खुलासा: इसलिए किसी को नहीं बताया था नोटबंदी के बारे में

केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने सरकार के नोटबंदी के फैसले को गोपनीय रखने का बचाव करते हुए कहा कि इसकी घोषणा में यदि पारदर्शिता बरती जाती तो यह ‘धोखाधड़ी की बड़ी वजह’ बनता।               

अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष और विश्व बैंक की वार्षिक बैठक में शामिल होने के लिए अमेरिका की एक सप्ताह की यात्रा पर आए जेटली ने कहा कि नोटबंदी और माल एवं सेवाकर (जीएसटी) जैसे सुधारों ने भारतीय अर्थव्यवस्था को ‘और अधिक मजबूत रास्ते’ पर ला दिया है।       

जेटली ने इसे संस्थागत सुधार बताया

न्यूयॉर्क में कोलंबिया विश्वविद्यालय के छात्रों को संबोधित करते हुए जेटली ने कहा, ‘यह संस्थागत सुधार हैं। यह ढांचागत बदलाव हैं और ये ढांचागत बदलाव मेरे हिसाब से भारतीय अर्थव्यवस्था को अधिक मजबूत रास्ते पर ले आए हैं। अब हम भविष्य में भारतीय अर्थव्यवस्था को अधिक साफ-सुथरी और बड़ी बनाने की ओर आगे बढ़ सकते हैं।’       

पहले घोषणा पर लेन देन कर सकते थे लोग

वित्त मंत्री ने कहा कि नोटबंदी की पहले ही घोषणा कर देने से लोग अपने पास उपलब्ध नकदी से सोना, हीरा और जमीन खरीद सकते थे तथा विभिन्न तरह के लेनदेन कर सकते थे।       

जेटली ने न्यूयॉर्क में कोलंबिया विश्वविद्यालय के छात्रों से कहा, ‘पारदर्शिता बहुत अच्छा शब्द है। लेकिन इस मामले (नोटबंदी) में पारदर्शिता को अपनाना धोखाधड़ी का बड़ा साधन बन सकता था।’

गोपनीयता निर्माण का मूल तत्व

वित्त मंत्री अरुण जेटली इस सवाल का जवाब दे रहे थे कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नोटबंदी की घोषणा करने से पहले कुछेक शीर्ष अधिकारियों के साथ तय इस योजना को गोपनीय क्यों रखा।       

जेटली ने कहा, ‘गोपनीयता निर्णय निर्माण की प्रक्रिया का मूल तत्व है। मेरा मानना है कि नोटबंदी की महान सफलता के पीछे प्रमुख कारण प्रधानमंत्री और उनके साथियों का इस निर्णय को गोपनीय बनाए रखना है।स्वाभाविक रुप से भारतीय रिजर्व बैंक और वित्त मंत्री भी इस निर्णय में शामिल रहे।’

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
finance minister arun jaitley defends demonetisation

-Tags:#Arun Jaitley#Black Money#IMF#World Bank#GST#Demonetisation
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo