Hari Bhoomi Logo
रविवार, सितम्बर 24, 2017  
Breaking News
Top

मालेगांव ब्लास्टः कर्नल पुरोहित की जमानत से गरमाई राजनीति, विपक्षियों ने बोला सरकार पर हमला

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Aug 21 2017 4:44PM IST
मालेगांव ब्लास्टः कर्नल पुरोहित की जमानत से गरमाई राजनीति, विपक्षियों ने बोला सरकार पर हमला

मालेगांव ब्लास्ट मामले में सुप्रीम कोर्ट ने कर्नल पुरोहित को जमानत दे दी है। कर्नल पुरोहित को मिली जमानत की वजह से देश में राजनीति तेज हो गई है। 9 साल बाद आए इस फैसले पर कांग्रेस समेत पूरा विपक्ष बीजेपी पर हमला बोल बैठा है। 

कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि बीजेपी के शासनकाल में एक-एक कर हिंदूवादी संगठनों से जुड़े आरोपियों को क्लीनचिट दी जा रही है। वहीं, बीजेपी ने कांग्रेस पर कथित 'हिंदू आतंकवाद' के नाम पर साजिश कर बेगुनाहों को फंसाने का आरोप लगाया है। 

29 सितंबर 2008 में मालेगांव में हुए ब्लास्ट में 6 लोगों की मौत हुई थी और करीब 100 से अधिक लोग घायल हुए थे। इस ब्लास्ट में 25 अप्रैल को पहले ही साध्वी प्रज्ञा को जमानत मिल चुकी है और कर्नल पुरोहित को जमानत मिलने के बाद राजनीति गरमा गई है। 

इस पूरे मामले के सरकारी वकील रहे उज्ज्वल निकम ने एक अहम बात कही है। उनका कहना है कि कर्नल पुरोहित को मिली बेल के पीछे दो वजहें हो सकती हैं। एक, ट्रायल कोर्ट 8 साल बीत जाने के बावजूद चार्ज फ्रेम नहीं कर सका। दूसरा, दो अलग-अलग जांच एजेंसियों (ATS, NIA) ने विरोधाभासी तथ्य रखे।

इसबीच कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय ने ट्वीट कर सरकार पर आरोप लगाया है कि इस ब्लास्ट में शामिल आरोपियों को बीजेपी की सरकार संघ से जुड़े लोगों को बचा रही है। दिग्विजय सिंह ने अगले ट्वीट में लिखा कि एनआईए चीफ को दो बार एक्सटेंशन इसी वजह से दिया जा रहा था। 

कांग्रेस नेता ने कहा है कि रिटायरमेंट के बाद भी उन्हें इनाम मिल सकता है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मनीष तिवारी ने कहा कि बेल मिलने का यह मतलब नहीं है कि आपको बरी कर दिया गया है और आप निर्दोष हैं। 

कांग्रेस के अलावा एमआईएम के सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने भी इस केस में अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि मालेगांव ब्लास्ट मामले में कर्नल पुरोहित के खिलाफ पूरे साक्ष्य हैं।

ओवैसी ने कहा कि जनवरी 2009 में एटीएस ने जो चार्जशीट फाइल की थी उसमें सारे सबूतों का जिक्र था, ऑडियो-विडियो का जिक्र। एटीएस चार्जशीट के हवाले से ओवैसी ने कहा कि ब्लास्ट के लिए 4 बैठकें आयोजित की गई थीं और उन सबमें कर्नल पुरोहित मौजूद थे। 

ओवैसी ने पीएम पर भी निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि 2014 में जबसे मोदी देश के पीएम बने हैं आप ऐसे केसों का एक पैटर्न देख सकते हैं जिनमें हिंदू संगठनों से जुड़े आरोपियों को राहत मिली है। ओवैसी ने कहा कि मुझे नहीं पता कि एनआईए ने सुप्रीम कोर्ट में साक्ष्य रखे या नहीं, लेकिन मैं इतना जानता हूं कि पुरोहित के खिलाफ कई साक्ष्य थे।

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
digvijay singh accuses bjp govt of protecting colonel purohit

-Tags:#Colonel Purohit#Digvijay Singh#Congress#BJP#Malegaon Blast#Malegaon
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo