Breaking News
उत्तराखंड: चमोली में बादल फटने की वजह से भूस्खलन, अलर्ट जारीNo Confidence Motion: गिरिराज सिंह ने राहुल गांधी पर ली चुटकी, बोले- भकूंप के मजे के लिए तैयारDaati Maharaj Case: कोर्ट ने CBI जांच वाली याचिका पर जारी किया नोटिस, मांगा जवाबमानसून सत्र 2018ः No Confidence Motion पर संसद में बहस जारीNo Confidence Motion: कांग्रेस को मिले समय पर खड़गे ने उठाए सवाल, कहा- 130 करोड़ लोगों के लिए 38 मिनट पर्याप्त नहींNo Confidence Motion: शिवसेना ने किया वहिष्कार, कहा- सदन की कार्यवाही में नहीं लेंगे हिस्साअविश्वास प्रस्ताव को प्रश्नकाल की तरह समय देने पर मल्लिकार्जुन खड़गे ने उठाए सवालमोदी सरकार की पहली 'परीक्षा' के लिए राहुल गांधी के 'भूकंप' लाने वाले सवाल लीक
Top

कांग्रेस का आरोप, राष्ट्रपति कोविंद ने अपने पहले भाषण में किया देश और गांधी का अपमान

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Jul 26 2017 12:38PM IST
कांग्रेस का आरोप, राष्ट्रपति कोविंद ने अपने पहले भाषण में किया देश और गांधी का अपमान

भारत के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति रामनाथ देश कोविंद ने कल मंगलवार 25 जुलाई को भारत के 14वें राष्ट्रपति के रूप में शपथ ग्रहण की। 

इस दौरान कोविंद ने अपने वक्तव्य में आरएसएस के विचार का उल्लेख किया।  कोविंद ने मौके पर भारतीय जनसंघ के संस्थापक पंडित दीन दयाल उपाध्याय के एकात्म मानववाद की भी बात की।  

इसे भी पढ़ें: ये हैं कारगिल युद्ध के वो शहीद जिन पर हर भारतीय को है गर्व

इसी को मुद्दा बनाते हुए मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद पर उनके पहले भाषण में ही भारत और राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का अपमान करने का दोषारोपण किया है।   

इसके साथ ही कांग्रेस ने कोविंद द्वारा भाषण में भारत के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू या किसी अन्य कांग्रेसी नेता का नाम न लेने पर निशाना साधा है। 

कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने अंग्रेजी वेबसाइट इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि कोविंद ने अपने पहले भाषण में पंडित दीन दयाल उपाध्याय की महात्मा गांधी से तुलना की और उन्होंने अपने वक्तव्य में जवाहरलाल नेहरू का जिक्र तक नहीं किया जो भारत का घोर अपमान है।'

उन्होंने कहा, 'यह महात्मा गांधी और अन्य स्वतंत्रा सेनानियों का भी अपमान है। यह बात भाषण में नहीं होनी चाहिए थी।' 

इसे भी पढ़ें: असली नेता आ गया तो तीन दिन में मोदी को सिखा देंगे सबक: मौलाना मसूद अजहर

नबी आजाद ने कहा, 'हमें उम्मीद थी कि वह अब देश के राष्ट्रपति हैं न कि बीजेपी के उम्मीदवार, राष्ट्रपति सबके होते हैं। मगर यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि देश के पहले प्रधानमंत्री का जिक्र नहीं हुआ।'

उन्होंने कहा, 'नेहरू एक स्वतंत्रता सेनानी के पुत्र थे। उनकी बेटी और पोते ने देश के लिए जान दी। मोतीलाल नेहरू से लेकर राजीव गांधी तक, किसी का भी जिक्र नहीं किया गया। यह जानबूझकर किया गया।'

ADS

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
congress slams kovind for equating deen dayal with mahatma gandhi

-Tags:#India News#President Of India

ADS

ADS

मुख्य खबरें

ADS

ADS

ADS

ADS

Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo