Breaking News
Top

सीमा विवाद पर शांति की दुहाई देने के पीछ है चीन की ये चाल

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Jul 21 2017 10:47AM IST
सीमा विवाद पर शांति की दुहाई देने के पीछ है चीन की ये चाल

डोकलाम को लेकर भारत और चीन के बीच तनातनी बढ़ती दिखाई दे रही है। चीन भारत को लगातार युद्ध की धमकियां दे रहा है लेकिन चीन सिर्फ बोल ही सकता है क्योंकि अगर वो ऐसा करता है तो उसे बहुत बड़ा घाटा हो सकता है। 

 
ग्लोबल टाइम्स में प्रकाशित एक लेख में चीन ने युद्ध के ऊपर व्यापार को प्राथमिकता देने की बात की है। हैदराबाद में रीजनल कंप्रिहेंसिव इकोनॉमिक पार्टनरशिप (क्षेत्रीय व्यापक आर्थिक भागीदारी या RCEP) के लिए 16 देशों के 100 से ज्यादा अधिकारी आएंगे। इस बैठक में भारत और चीन शामिल होंगे। बैठक में एशिया केंद्रित ट्रेड डील पर 16 देशों में बातचीत होगी।
 
 
चीन और भारत दोनों देशों के लिए यह बैठक अहम है ऐसे में दोनों को ही विवाद सुलझाने पर जोर देना होगा।उल्लेखनीय है कि अगर जापान-चीन-दक्षिण कोरिया के बीच फ्री ट्रेड एग्रीमेंट हो जाता है तो तीनों ही देशों को इससे काफी फायदा होगा। 
 
ग्लोबल टाइम्स ने अपने एक लेख ने कहा कि चीन अपने संप्रभु क्षेत्र पर अधिकार को लेकर कोई समझौता नहीं करेगा, लेकिन वह अपने पड़ोसी देशों के साथ सीमा विवाद को बातचीत के जरिए हल करने के लिए पूरी तरह दृढ़ प्रतिज्ञ है। लेख में यह भी लिखा कि किसी भी तरह के विवाद को बढ़ाना दोनों ही देशों के लिए घातक होगा।
 
(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
china is tensed over its business due to sikkim border issue

-Tags:#Regional Comprehensive Economic Partnership#India-China War
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo