Breaking News
उत्तर प्रदेश: जौनपुर में सड़क दुर्घटना में एक ही परिवार के तीन लोगों की मौतमध्य प्रदेश: छतरपुर में पुलिस कांस्टेबल की गोली मारकर हत्या, 2 आरोपी गिरफ्तार, जांच जारीकानपुर: मुलगंज में एक प्लास्टिक गोदाम में भीषण आग, बचाव और राहत कार्य जारीबिहार: पंचायत ने एक व्यक्ति को सरेआम थूक चटवाया और चप्पलों से पिटवाया, सामने आया मामलाबिहार: डॉक्टर की हत्या को लेकर समस्तीपुर में भारी बवाल, 20 गाड़ियां आग के हवालेकेदारनाथ पहुंचे पीएम मोदी, जनसभा को करेंगे संबोधितचिदंबरम के ट्वीट पर बोले गुजरात सीएम- चुनाव से डर रही कांग्रेसतमिलनाडु: नागपट्टिनम में बस डिपो रेस्ट रुम की छत गिरने से 8 की मौत
Top

'उसने किस किया...मुझे अपने कमरे में हमबिस्तर होने को कहा' - फिजी महिला का बीएचयू हॉस्पिटल हेड पर बड़ा बयान

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Sep 28 2017 6:26PM IST
'उसने किस किया...मुझे अपने कमरे में हमबिस्तर होने को कहा' - फिजी महिला का बीएचयू हॉस्पिटल हेड पर बड़ा बयान
छात्राओं के आंदोलन के साथ बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय (बीएचयू) और उनकी फैकल्टी को लेकर हैरान करने वाले नए-नए खुलासे हो रहे हैं। इस बार बीएचयू के डॉक्टर ओपी उपाध्याय को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है। 
 
डॉक्टर उपाध्याय को वाइस-चांसलर जीसी त्रिपाठी ने यूनिवर्सिटी की कार्यकारी परिषद की बैठक में सर सुंदरलाल अस्पताल का प्रमुख नियुक्त किया है। कार्यकारी परिषद के एक सदस्य का कहना है फिजी की एक कोर्ट उपाध्याय को यौन शोषण के मामले में दोषी करार दे चुकी थी। ऐसे में उनकी नियुक्ति सही नहीं है।
 
इंडियन एक्सप्रेस की एक खबर के मुताबिक 21 वर्षीय फिजी महिला नासिनू ने कोर्ट में जनवरी 2013 में एक बयान दिया था। जिसमें उसने कहा था, 'उन्होंने (उपाध्याय) मेरा हाथ जकड़ा और मुझे अपने घर आने को कहा। जब मैं उनके घर गई तो उन्होंने मुझे अपने कमरे में ही सोने को कहा।'
 
कोर्ट के फैसले के दस्तावेज में नासिनू का बयान यह भी बताता है कि ये सारी बातें हिंदी में ही हुई थी। बकौल नासिनू, 'उन्होंने कमरे में मेरा कंधा अपनी बाहों में भरा, मेरी जांघों को रगड़ डाला, यहां तक की मेरे गाल पर भी किस किया।' 
 
बता दें कि यह घटना 25 अगस्त 2012 को उस समय हुई, जब उपाध्याय फिजी नेशनल यूनिवर्सिटी में वाइस-चांसलर के एडवाइजर के तौर पर डेपुटेशन पर थे। खास बात यह है कि फिजी की कोर्ट ने उपाध्याय को 'अनैतिक और मर्यादारहित हमले' का दोषी करार दिया। 
 
फिजी कोर्ट के फैसले पर गौर करें तो उसमें लिखा है, '...आरोपी ने पीड़ित महिला से कहा कि वह उसके कमरे में हमबिस्तर हो सकती है। उसके बाद आरोपी ने पीड़िता के ब्रेस्ट और थाई को टच किया। जिस महिला से आप फर्स्ट टाइम मिलते हो उसके स्तनों और जांघों को टच करना अनैतिक और अमार्यादित मंशा का साफ तौर पर जाहिर करता है।'
 
साफ है कि उपाध्याय की नियुक्ति को लेकर अब फिर से बवाल हो सकता है। ऐसे में बीएचयू के वाइस चांसलर त्रिपाठी पर भी सवाल उठ सकते हैं। बता दें कि बीएचयू की छात्राओं यूनिवर्सिटी परिसर में छेड़छाड़ और बंदिशों को लेकर आंदोलन पर हैं। इसकी गूंज पूरे देश में सुनाई दे रही है। 
 
(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
bhu hospital head convicted of sexual harassment here are fiji woman shocking statements

-Tags:#Banaras Hindu University#G.C. Tripathi#Sir Sunderlal Hospital#BHU
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo