Breaking News
Top

बांग्लादेश में है हिंदुओं के पास मुसलमानों की तरह कई शादी का हकः रिपोर्ट

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Aug 17 2017 12:33PM IST
बांग्लादेश में है हिंदुओं के पास मुसलमानों की तरह कई शादी का हकः रिपोर्ट

अमेरिकी सरकार की एक रिपोर्ट के अनुसार बांग्लादेश में हिन्दुओं के विवाह से संबंधित कुछ कानून वैसे ही हैं जैसे भारत में मुसलमानों के लिए हैं। 15 अगस्त को अंतर्राष्ट्रीय धार्मिक आजादी रिपोर्ट वॉशिंगटन में पेश की गई जिसमें 2016 में कई देशों में विभिन्न समूहों द्वारा संचालित विवाह कानूनों की जांच की गई।

 
रिपोर्ट के अनुसार बांग्लादेश में हिंदुओं को बहुविवाह करने की आजादी है। रिपोर्ट ने यह भी लिखा कि हिंदू कानून के तहत एक पुरुष की कई पत्नियां हो सकती हैं लेकिन उनके पास आधिकारिक तौर पर तलाक देने का हक नहीं है।
 
 
रिपोर्ट में कहा गया कि बौद्ध भी हिंदू कानून के तहत आते हैं और तलाकशुदा हिंदू और बौद्ध कानूनी तौर पर फिर से शादी नहीं कर सकते। रिपोर्ट में आगे कहा कि हिंदू नागरिक कानून में महिलाओं को विरासत की संपत्ति पर भी रोक लगाई गई है। हिंदूओं और बौद्धों के तलाक और पुनर्विवाह को लेकर विरोध किया जा रहा है। यह कानून दूसरे धर्मों पर लागू नहीं होता।
 
 
आईआरएफआर ने कहा कि रिसर्च इनीशिएटिव इन बांग्लादेश व एमजेएफ के साल के दौरान किए गए सर्वेक्षण में 26.7 फीसदी हिंदू पुरुष व 29.2 फीसदी हिंदू महिलाएं तलाक के इच्छुक हैं, लेकिन वे मौजूदा कानून की वजह से ऐसा नहीं कर सके।
 
रिपोर्ट में कहा गया है कि मुस्लिम व्यक्ति बहु विवाह कर सकता है लेकिन फिर से शादी करने के लिए उसे अपने मौजूदा पत्नी या पत्नियों से लिखित सहमति लेनी होगी। हालांकि मुस्लिम महिलाओं के पास पुरुषों के मुकाबले कुछ ही तलाक के अधिकार हैं। इसके लिए अदालत को तलाक की मंजूरी देनी होदी और व्यक्ति को पहली पत्नी को तीन महीनों तक भरष-पोषण के लिए वीत्तिय मदद देनी होगी।
 
(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
bangladeshi hindus have same laws of marriage as muslims of india have said an american report

-Tags:#Bangladesh#Marriage Laws
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo