Top

टैक्स का भुगतान करना देशभक्ति का काम: अरुण जेटली

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Oct 29 2017 1:51AM IST
टैक्स का भुगतान करना देशभक्ति का काम: अरुण जेटली

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कर भुगतान को देशभक्ति का काम' बताया है। उन्होंने शनिवार को कहा कि भारत यदि विश्व मंच पर मजबूत भूमिका हासिल करने की आकांक्षा रखता है तो ऐसा नहीं हो सकता है कि देश में काले धन की अर्थव्यवस्था वास्तविक अर्थव्यवस्था से अधिक बड़ी हो।

जेटली ने कहा, आप ऐसी अर्थव्यवस्था के साथ नहीं चल सकते, जहां काले धन की अर्थव्यवस्था वास्तविक अर्थव्यवस्था से बड़ी हो।

यह भी पढ़ें- सेक्स CD केस : देर रात पत्रकार विनोद वर्मा को रायपुर लाया

नोटबंदी और जीएसटी का नाम लिए बगैर जेटली ने कहा कि अर्थव्यवस्था को साफ-सुथरी बनाने की प्रक्रिया चालू कर दी गई है ताकि हम विकसित और सबसे तेजी से बढ़ती प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं में स्थापित हो सकें।

उन्होंने स्वीकार किया कि जीएसटी जैसे सुधारों को लागू करने पर कुछ शोर और शिकायतें जरूर होंगी पर कर का भुगतान करना जरूरी है। उन्होंने कहा, करों का भुगतान हर नागरिक का मौलिक कर्तव्य है।

यह भी पढ़ें- VIDEO: गोवा में एटीएम लूटने आए लुटेरे से गार्ड ने बहादुरी से किया मुकाबला

इस (कर) व्यवस्था से बचने के बजाए इसका हिस्सा बनना देशभक्ति का काम है तभी इसके अनुपालन का बड़ा और दीर्घकालिक प्रभाव सामने आएगा। जेटली ने कहा कि बुनियादी सुधारों की राह लंबी है। सरकार ने अभी प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) बढ़ाने जैसे कुछ कदम उठाए हैं जो आसान थे।

ADS

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
arun jaitley taxation indian economy black money

-Tags:#Arun Jaitle#Indian Economy#GST#BJP

ADS

ADS

मुख्य खबरें

ADS

ADS

ADS

ADS

Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo