Breaking News
Top

वैश्विक बाजारों के लिए युवाओं को कुशल बनाने की जरूरत: अरुण जेटली

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Nov 10 2017 9:57AM IST
वैश्विक बाजारों के लिए युवाओं को कुशल बनाने की जरूरत: अरुण जेटली

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने गुरुवार को युवाओं को कुशल बनाने पर जोर देते हुए कहा कि उन्हें न केवल भारतीय अर्थव्यवस्था बल्कि वैश्विक बाजारों को भी सेवाएं देनी चाहिए।

उन्होंने कहा, हमारी आबादी की एक खास बात यह है कि हमारे यहां बड़ी संख्या में युवा लोग हैं। ऐसे में हमारे पास काम के लिए अधिक हाथ हैं। दूसरी खूबी यह है कि जहां ज्यादातर विकसित देशों में आबादी या तो स्थिर हो रही है या नीचे जा रही है। भारत के साथ ऐसा नहीं है। 

यह भी पढ़ें- श्रीलंका में रह रहे तमिलों का आरोप- कोठरी मे कैद करके सेना और पुलिस करती है हमारा रेप

यहां राष्ट्रीय उद्यमशीलता पुरस्कार-2017 में वित्त मंत्री ने कहा कि आधुनिक अर्थव्यवस्थाओं के पास कई बार अपनी अपनी अर्थव्यवस्था की सेवाओं के लिए लोग नहीं होते हैं। लेकिन भारत जैसी अर्थव्यवस्था के साथ ऐसा नहीं है। हमारी पास काफी बड़ी कामकाजी आबादी है।

उन्होंने कहा कि देश की अतिरिक्त आबादी का सर्वश्रेष्ठ आर्थिक संसाधनों की तरह उपयोग करने की जरूरत है। यह समय के साथ किया जा सकता है लेकिन इसके लिए युवाओं को कुशल बनाने की जरूरत है। 

यह भी पढ़ें- चीन से अमेरिका ने की 'इंडो-पैसिफिक' की पैरोकारी

इस कार्यक्रम में कौशल विकास मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि बैंकों ने मुद्रा योजना के तहत चार लाख करोड़ रुपए का ऋण दिया है, जिससे 9 करोड़ लोगों को फायदा हुआ है। उन्होंने कहा कि इनमें से तीन करोड़ लोग नए लाभार्थी हैं।

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
arun jaitley said the need to make the youth skills for world level

-Tags:#Arun Jaitley#Economy#India#Youth#Employment
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo