Top

ट्रिपल तलाकः फैसले को अमित शाह ने बताया मुस्लिम महिलाओं के लिए नए युग की शुरुआत

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Aug 22 2017 8:31PM IST
ट्रिपल तलाकः फैसले को अमित शाह ने बताया मुस्लिम महिलाओं के लिए नए युग की शुरुआत

सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को तीन तलाक पर बड़ा फैसला सुनाते हुए इसे खत्म कर दिया है। देश के सबसे जटिल मुद्दों में से एक मुद्दे पर 5 सदस्यों की संविधान बेंच ने फैसला सुनाया।

इसे भी पढ़ेंः तीन तलाक खत्म: सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर मुस्लिम संगठनों के बड़े बयान

पांच में से तीन जजों जस्टिस कुरियन जोसफ, जस्टिस नरीमन और जस्टिस यूयू ललित ने तीन तलाक को असंवैधानिक करार दिया। तीनों ने जस्टिस नजीर और सीजेआई खेहर की राय का विरोध किया। तीनों जजों ने तीन तलाक को संविधान के अनुच्छेद 14 का उल्लंघन करार दिया।

कोर्ट के इस फैसले के बाद बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने भी एक प्रेस रिलीज जारी कर अपनी प्रतिक्रिया दी। उन्होंने इस फैसले को मुस्लिम महिलाओं के लिए स्वाभिमान पूर्ण एवं समानता के नए युग की शुरुआत बताया। 

उन्होंने कहा, 'सर्वोच्च अदालत द्वारा आज तीन तलाक के मुद्दे पर लिए गए ऐतिहासिक फैसले का मैं स्वागत करता हूं। यह फैसला किसी की जय या पराजय का नहीं है। यह मुस्लिम महिलाओं के समानता के अधिकार और मूलभूत संवैधानिक अधिकार की विजय है।'

इसे भी पढ़ेंः 3 तलाक की दर्दनाक कहानी बयां करते हैं ये तथ्य

उन्होंने कहा, 'सर्वोच्च अदालत ने ट्रपिल तलाक को गैर-संवैधानिक घोषित कर देश की करोड़ों मुस्लिम महिलाओं को समानता एवं अत्मसम्मान के साथ जीने का अधिकार दिया है।'

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo