Breaking News
महाराष्ट्रः पेट्रोल डीजल की बढ़ती कीमतों पर CM देवेंद्र फडणवीस ने दिया बड़ा संकेत, ये है GST लागू होने पर नुकसानप्रतिनिधिमंडल के साथ दो दिवसीय दौरे पर भारत पहुंचे नीदरलैंड के PM मार्क रुट, पीएम मोदी के साथ करेंगे बैठकPM मोदी ने क्रिकेटर विराट कोहली का फिटनेस चैलेंज किया स्वीकार, लिखा- चैलेंज स्वीकार जल्द शेयर करुंगा वीडियोपेट्रोल-डीजल के दामों में 11वें दिन भी जारी बढ़ोत्तरी, पेट्रोल 30 पैसा और डीजल 19 पैसा हुआ मंहगा10वीं दिन भी पाक की तरफ से सीजफायर का उल्लंघन, नौशेरा सेक्टर में 1 घायललगातार हार से कांग्रेस में फंड का टोटा, AICC ने प्रदेश कमेटी के ऑफिस का खर्चा-पानी बंद कियाझारखंड को मिलेगी 27000 करोड़ की सौगात, 25 मई को पीएम मोदी करेंगे शिलान्यासRSS का राहुल गांधी पर तीखा हमला, कहा- खोई जमीन वापस पाने के लिए समाज को बांटने की कोशिश
Top

उत्तर कोरिया की कई देशो ने की निंदा, अमेरिका ने बताया खतरा

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Sep 3 2017 8:05PM IST
उत्तर कोरिया की कई देशो ने की निंदा, अमेरिका ने बताया खतरा

पश्चिमी देशों की चेतावनियों को नजरअंदाज करते हुए उत्तर कोरिया ने रविवार को छठा परमाणु परीक्षण किया। लंबी दूरी के मिसाइलों में लोड किए जा सकने वाले शक्तिशाली हाइड्रोजन बम के परीक्षण ने पूरी दुनिया को दहलाते हुए चिंतित कर दिया है।

ये भी पढ़ें - अमेरिका के बाद उत्तर कोरिया पर भड़का चीन और जापान

भारत सहित अमेरिका, चीन, रूस, जापान जैसे देशों ने कड़ी नाराजगी जाहिर की है तो वहीं दक्षिण कोरिया ने अपने सैनिकों को अलर्ट कर दिया है।

अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप के पद संभालने के बाद उत्तर कोरिया का यह पहला परमाणु परीक्षण है। ट्रंप ने इस परीक्षण का विरोध करते हुए ट्विटर पर कहा कि उत्तर कोरिया एक दुष्ट राष्ट्र है। यह चीन के लिए भी खतरा और शर्मिंदगी का कारण बन गया है, जो उसे रोकने की कोशिश कर रहा है लेकिन थोड़ी सफलता के साथ। उ

शब्द और काम दोनों शत्रुतापूर्ण : ट्रंप

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनल ट्रंप ने कहा कि उत्तर कोरिया के शब्द और काम अमेरिका के लिए शत्रुतापूर्ण और खतरनाक हैं। ट्रंप ने एक अन्य ट्वीट में लिखा, 'दक्षिण कोरिया को अब मेरी बात समझ आ रही है कि उत्तर कोरिया के साथ तुष्टीकरण वाली बातचीत का असर नहीं होगा। वह केवल एक भी चीज समझता है।'

चीन ने कहा- अंतर्राष्ट्रीय समुदाय की अनदेखी

चीनी विदेश मंत्रालय ने अपनी वेबसाइट पर डाले गए एक बयान में कहा कि उत्तर कोरिया ‘‘ने अंतर्राष्ट्रीय समुदाय के व्यापक विरोध की अनदेखी करते हुए दोबारा परमाणु परीक्षण किया। चीन की सरकार इसे लेकर कड़ा विरोध जताती है एवं इसकी कड़ी निंदा करती है।’’

इसमें कहा गया,‘‘हम डीपीआरके (उत्तर कोरिया) से परमाणु निरस्त्रीकरण को लेकर अंतर्राष्ट्रीय समुदाय के दृढ़ मनोबल का सामना करने, संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के संबंधित प्रस्तावों का पूरी ईमानदारी से पालन करने, स्थिति को बिगाड़ने वाली तथा स्वहित विरोधी गलत कार्रवाइयों पर रोक लगाने की और वार्ता के जरिए समस्या के हल के रास्ते पर प्रभावी ढंग से लौटने की अपील करते हैं।’’

उत्तर कोरिया का दावा परीक्षण रहा सफल

हाइड्रोजन बम का यह परीक्षण उत्तर कोरिया का छठा परीक्षण था और पूर्व में किए गए किसी भी परीक्षण से ज्यादा ताकतवर था। उत्तर कोरिया ने परीक्षण को ‘‘पूरी तरफ से सफल’’ करार दिया। वह इसे हाइड्रोजन बम का परीक्षण बता रहा है। चीन उत्तर कोरिया का प्रमुख कूटनीतिक सहयोगी और आर्थिक भागीदार है। 

 

ADS

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
america saya north korea also threatens for china

-Tags:#North Korea#Nuclear Test#Japan#China#America

ADS

ADS

मुख्य खबरें

ADS

ADS

ADS

ADS

Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo