Breaking News
Top

अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप की चेतावनी, धोखा देने वाले देशों के खिलाफ होगी कड़ी कार्रवाई

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Jul 21 2017 8:52AM IST
अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप की चेतावनी, धोखा देने वाले देशों के खिलाफ होगी कड़ी कार्रवाई

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि उनका प्रशासन देश में विनिर्माण क्षेत्र में खोये रोजगार वापस लाने के लिए लड़ाई लड़ रहा है। और अमेरिका को धोखा देने वाले देशों के खिलाफ कड़ी कारवाई कर रहा है।       

ट्रंप ने यहां व्हाइट हाउस में ‘मेड इन अमेरिका’ गोल मेज सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा, पहले ही दिन से मेरा प्रशासन हमारी विनिर्माण क्षेत्र में नौकरियों को वापस लाने के लिए लड़ रहा है और उन देशों के खिलाफ कारवाई कर रहा है जो हमारे साथ धोखा कर रहे हैं। कई रोजगार वापस आए हैं।

मेड इन अमेरिका मात्र लेबल नहीं       

हम अमेरिका की समृद्धि नहीं चुराने देंगे। हम अपनी कंपनियों, अपने कारखानों और हमारे कामगारों के साथ खड़े होंगे। ट्रंप ने कहा, ‘मेड इन अमेरिका’ उत्पादन पर लगने वाला केवल एक लेबल मात्र नहीं है बल्कि यह उत्कृष्टता की मुहर भी है।

ये भी पढ़ें- पाकिस्तान के पीएम नवाज शरीफ नहीं देंगे इस्तीफा!

उन्होंने ‘मेड इन अमेरिका’ उत्पादों का संवर्धन करते हुए कहा, ‘यह एक सम्मान का तमगा है, यह उन पुरुषों और महिलाओं के कौशल की एक भेंट है जो इन्हें तैयार करते हैं, इनका डिजाइन तैयार करते हैं और इन विभिन्न प्रकार के बेहतरीन उत्पादों को तैयार करते हैं।’       

अमेरिकी कामगारों को मिलेगा बेहतर माहौल       

ट्रंप ने कहा कि अमेरिकी कामगारों को बेहतर और समान सुविधाएं उपलब्ध नहीं कराई गईं। उन्होंने जोर देते हुए कहा कि यदि उन्हें भी बेहतर सुविधाएं और माहौल उपलब्ध कराया जाता है तो उन्हें पछाड़ा नहीं जा सकता है। आप देखेंगे, हम एक एक कदम आगे बढ़ रहे हैं।

विनिर्माताओं को सुविधा होगी

कुछ सांविधिक आवश्यकताएं हैं, कुछ समयसीमा है जिसमें हम यह नहीं कर सकते हैं, जैसे जैसे यह तिथियां आ रही है हम नियमन ला रहे हैं।

हम इन्हें खुला कर रहे हैं, इससे किसानों, मकान बनाने वालों और विनिर्माताओं को काफी सुविधा होगी। हम ऐसा कर मेड इन अमेरिका लेबल की समग्रता को सुनिश्चित करना चाहते हैं।

‘भारतीय नीतियां भी अमेरिका के प्रति भेदभावकारी'

अमेरिकी कांग्रेस की एक प्रभावशाली समिति का मानना है कि भारत ने अपनी अर्थव्यवस्था, विशेषतौर से विनिर्माण क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए जिन कई नीतियों को अपनाया है वह सभी अमेरिका के निर्यात और निवेश के प्रति भेदभावपूर्ण हैं।

इसे भी पढ़ें: सीमा विवाद के बावजूद चीन से राजनयिक रिश्तों पर नहीं पड़ा असर, डोभाल जाएंगे चीन

समिति ने अपनी रिपोर्ट में कहा है, भारत घरेलू स्तर पर विनिर्माण गतिविधियों में तेजी लाने, घरेलू उद्योगों को सुरक्षित करने और कृषि उत्पादन बढ़ाने के क्षेत्र में कई नीतियां बना रहा है जो कि अमेरिकी निर्यात और निवेश के प्रति भेदभाव पूर्ण हैं।

अवैध ब्रांडिंग का मुद्दा उठाया

भारत-अमेरिका द्विपक्षीय व्यापार और निवेश के महत्व को ध्यान में रखते हुए विनियोग समिति ने अपनी रिपोर्ट में बौद्धिक संपदा सुरक्षा मानकों और जबरन स्थानीयकरण उपायों को लेकर चिंता जताई है।

इस प्रभावशाली समिति ने अमेरिका में उत्पादित बोरिक एसिड के निर्यात, अमेरिका में उत्पादित बादाम की भारत में तस्करी और उनकी अवैध तरीके से ब्रांडिंग तथा बाजार पहुंच से जुड़े कई अन्य मुद्दों को उठाया है।

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
america is acting against countries cheating with him donald trump

-Tags:#Ameria#Us President Donald Trump
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo