Top

इलाहाबाद हाईकोर्ट: दूसरी शादी के लिए धर्म परिवर्तन अवैध

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Sep 21 2017 4:55PM IST
इलाहाबाद हाईकोर्ट: दूसरी शादी के लिए धर्म परिवर्तन अवैध

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने दूसरी शादी के लिए धर्म परिवर्तन करने पर बड़ा फैसला सुनाया है। हाईकोर्ट ने कहा कि दूसरी शादी के लिए धर्म परिवर्तन करना गैरकानूनी है। हाईकोर्ट ने कहा कि इसका बालिग होने से कोई मतलब नहीं है, कानून इसे सही नहीं मानता।

 
हाईकोर्ट ने कहा कि जब तक पहली शादी में तलाक नहीं हो जाता तब तक दूसरी शादी करना अवैध है। इस तरह से विवाह को शून्य माना जाएगा। दरअसल यूपी के जौनपुर में विवाहित महिला ने दूसरे लड़के से शादी करने के लिए धर्म परिवर्तन कर लिया था जिसके बाद परिवार वालों ने उसके खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर दी थी।
 
 
गिरफ्तारी से बचने के लिए महिला ने हाईकोर्ट में याचिका दायर की जो की हाईकोर्ट ने खारिज कर दी। लड़की की ओर से दलील दी गई की वो बालिग है और उसने अपनी मर्जी से विवाह किया है। गौरतलब है कि कोर्ट ने इनकी शादी को अवैध माना है और किसी भी तरह की राहत देने से इंकार कर दिया है। 
 
 
(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
allahabad highcourt said religion change for second marriage is illegal

-Tags:#Allahabad Highcourt#Hindu Marriage Act
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo