Breaking News
महाराष्ट्रः पेट्रोल डीजल की बढ़ती कीमतों पर CM देवेंद्र फडणवीस ने दिया बड़ा संकेत, ये है GST लागू होने पर नुकसानप्रतिनिधिमंडल के साथ दो दिवसीय दौरे पर भारत पहुंचे नीदरलैंड के PM मार्क रुट, पीएम मोदी के साथ करेंगे बैठकPM मोदी ने क्रिकेटर विराट कोहली का फिटनेस चैलेंज किया स्वीकार, लिखा- चैलेंज स्वीकार जल्द शेयर करुंगा वीडियोपेट्रोल-डीजल के दामों में 11वें दिन भी जारी बढ़ोत्तरी, पेट्रोल 30 पैसा और डीजल 19 पैसा हुआ मंहगा10वीं दिन भी पाक की तरफ से सीजफायर का उल्लंघन, नौशेरा सेक्टर में 1 घायललगातार हार से कांग्रेस में फंड का टोटा, AICC ने प्रदेश कमेटी के ऑफिस का खर्चा-पानी बंद कियाझारखंड को मिलेगी 27000 करोड़ की सौगात, 25 मई को पीएम मोदी करेंगे शिलान्यासRSS का राहुल गांधी पर तीखा हमला, कहा- खोई जमीन वापस पाने के लिए समाज को बांटने की कोशिश
Top

अजीत डोभाल को डोकलाम विवाद सुलझाने की जिम्मेदारी मिली, अब चीन की खैर नहीं

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Jul 15 2017 12:31AM IST
अजीत डोभाल को डोकलाम विवाद सुलझाने की जिम्मेदारी मिली, अब चीन की खैर नहीं

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिहं के घर सरकार की बड़ी बैठक में अहम फैसला लिया गया है। सूत्रों ने बताया कि राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल को डोकलाम विवाद सुलझाने की जिम्मेदारी दी गई है।

खास बात यह है कि सरकार ने डोकलाम पर पीछे न हटने का फैसला शुक्रवार शाम होने वाली सर्वदलीय बैठक से पहले लिया।

इसे भी पढ़े:कश्मीर: अब रोज चलेगा आतंक के खिलाफ सेना का ऑपरेशन, नार्थ कश्मीर में 125 आतंकी

डोकलाम विवाद को लेकर राजनाथ सिंह के घर पर बड़ी बैठक हुई जिसमें विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, वित्त मंत्री अरुण जेटली, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल सहित गृह और रक्षा मंत्रालयों के बड़े अधिकारी शरीक हुए।

इस बैठक में आतंकी हमले पर भी चर्चा हुई और सुरक्षा में चूक की विवेचना की गई।

इसे भी पढ़े:- भारत-चीन विवाद: एकजुट हुआ पक्ष-विपक्ष, गृहमंत्री राजनाथ सिंह के घर चल रही है सर्वदलीय बैठक खत्म

क्या है डोकलाम विवाद ?

दरअसल डोकलाम जिसे भूटान में डोलम कहते हैं। करीब 300 वर्ग किलोमीटर का ये इलाका चीन की चुंबी वैली से सटा हुआ है और सिक्किम के नाथुला दर्रे के करीब है।

इसलिए इस इलाके को ट्राई जंक्शन के नाम भी जाना जाता है। ये डैगर यानी एक खंजर की तरह का भौगोलिक इलाका है, जो भारत के चिकन नेक यानी सिलिगुड़ी कॉरिडोर की तरफ जाता है।

चीन की चुंबी वैली का यहां आखिरी शहर है याटूंग। चीन इसी याटूंग शहर से लेकर विवादित डोलम इलाके तक सड़क बनाना चाहता है।

इसी सड़क का पहले भूटान ने विरोध जताया और फिर भारतीय सेना ने। भारतीय सैनिकों की इस इलाके में मौजूदगी से चीन हड़बड़ा गया है।

चीन को ये बर्दाश्त नहीं हो रहा कि जब विवाद चीन और भूटान के बीच है तो उसमें भारत सीधे तौर से दखलअंदाजी क्यों कर रहा है।

16 जून से भारत और चीन की सेना के बीच फेसऑफ यानी गतिरोध जारी है।

ADS

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
ajit doval gets the responsibility of resolving the dokalaam controversy

-Tags:#India#China#dokalaam controversy

ADS

ADS

मुख्य खबरें

ADS

ADS

ADS

ADS

Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo