Breaking News
Top

रोहिंग्या मुस्लिमों पर बढ़ा संकट, म्यामांर में खूनी संघर्ष जारी

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Sep 15 2017 8:27PM IST
रोहिंग्या मुस्लिमों पर बढ़ा संकट, म्यामांर में खूनी संघर्ष जारी

म्यांमार में हिंसा के कारण बड़ी संख्या में रोहिंग्या मुस्लिमों के पलायन के करीब तीन सप्ताह बाद बांग्लादेश सीमा पर हजारों लोग शरणार्थी बस्तियों में मदद और सुरक्षा की बाट जोह रहे हैं। 

विश्व भर में इस संकट की आलोचना की जा रही है। संयुक्त राष्ट्र के अधिकारी म्यांमार से जातीय सफाये के अभियान को रोकने की मांग कर रहे हैं जिसके तहत करीब 400,000 रोहिंग्या लोगों ने राखिन प्रांत से पलायन किया है। 

ये भी पढ़ें: पीएम मोदी ने कहा -आबे जैसा दोस्त और जापान जैसा बैंक नहीं

पुलिस ने बताया कि रोहिंग्या शरणार्थियों को बांग्लादेश के सीमावर्ती शहर टेकनाफ लाने वाली दर्जनों नौकाओं में से एक को कल पकड़ा गया और कम से कम दो लोग डूब गए। 

इस घटना के बाद इस संकट के शुरू होने से लेकर अब तक नाफ नदी में डूबने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 88 हो गई है। एक रोहिंग्या व्यक्ति ने बताया कि उनके गांव राशिडोंग में छह दिन पहले म्यामां सैनिकों और पुलिस ने हमला किया। 

अब्दुल गोफ्फार ने कहा, जब सेना और पुलिस ने हमारे गांव को घेरा और आग लगाने के लिए हम पर रॉकेट लॉन्चरों से हमला किया तो हम अपने गांव से भागे और जहां भी रास्ता मिला, हम उसी दिशा में बढ़ते गए।

म्यांमार के राष्ट्रपति कार्यालय के प्रवक्ता जाव ते ने कहा कि राखिन के तीन शहरों में 471 बंगाली गांवों में से 176 गांवों में अब वीरानी छाई हुई है जबकि कम से कम 34 और गांव आंशिक रूप से खाली हैं।

ये भी पढ़ें: बुलेट ट्रेन पर अखिलेश यादव गर्म, बोले- पीएम मोदी ने किया सैफई को नजरअंदाज

म्यांमार ने रोहिंग्या पर खुद अपने घरों और गांवों को फूंकने का आरोप लगाया है जिसकी संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार प्रमुख ने यह कहकर आलोचना की कि यह सच्चाई को पूरी तरह से खारिज करना है। 

संयुक्त राष्ट्र के प्रवक्ता स्टीफन दुजारिक ने कल विश्व संस्था के मुख्यालय में बताया कि बीते 24 घंटे में करीब 10,000 लोगों के सीमा पार जाने की खबर है। 

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
88 rohingya muslims killed in myanmar

-Tags:#Myanmar#Rohingya Muslim#Violence
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo