Top

हर भारतीय को पता होनें चाहिए ये 7 अधिकार, हैं बड़े काम के

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Nov 29 2017 12:17PM IST
हर भारतीय को पता होनें चाहिए ये 7 अधिकार, हैं बड़े काम के

भारत में कई बार लोग अपने अधिकारों की बात करते हैं लेकिन देश में कई ऐसे भी अधिकार हैं जिनके बारे में कम लोग जानते हैं या फिर जानते ही नहीं हैं।

 
आज हम आपको 7 मजेदार अधिकारों के बारे में बताने जा रहे हैं जो हमारे पास हैं लेकिन हम उनके बारे में जानते नहीं हैं।
 
1. मोटर वाहन एक्ट 1998, सेक्शन 185, 202 में दिया है कि ड्राइविंग के समय अगर आपके 100 एमएल ब्लड में अल्कोहल का लेवल 30 एमजी से ज्यादा मिलता है तो पुलिस बिना वॉरेंट के आपको हिरासत में ले सकती है।
 
 
2. भारतीय दंड सहिंता, सेक्शन 166 A मे दिया हुआ है कि कोई भी पुलिस अफसर एफआईआर लिखने से मना नहीं कर सकता। अगर कोई ऐसा करता है तो उसे 6 माह से लेकर 1 साल तक की सजा हो सकती है। 
 
3. भारतीय सरिउस अधिनियम, 1887 में दिया हुआ है कि आप किसी भी होटल में मुफ्त में पानी पी सकते हैं और साथ ही वॉशरूम का इस्तेमाल भी कर सकते हैं।
 
4. भारतीय दंड संहिता व्यभिचार धारा 498 में लिखा है कि कोई भी शादीशुदा व्यक्ति किसी अविवाहित लड़की या विधवा महिला से उसकी सहमति से शारीरिक संबंध बनाता हो तो ये अपराध की श्रेणी में नहीं आता।
 
5. घरेलू हिंसा अधिनियम, 2005 में लिखा है कि अगर कोई लड़का-लड़की अपनी मर्जी से लिव-इन रिलेशनशिप से रहना चाहते हैं को यह गैरकानूनी नहीं है।
 
6. पुलिस एक्ट 1861, एक पुलिस अधिकारी हमेशा ड्यूटी पर रहता है, अगर उसने यूनिफॉर्म नहीं पहना है तो भी वो ड्यूटी पर रहता है।
 
7. मातृत्व लाभ अधिनियम, 1961- इसमें लिखा है कि कोई भी कंपनी गर्भवती महिला को नौकरी से निकाल नहीं सकती।
(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
7 rights which are useful for each and every indian

-Tags:#Laws in india#Rights of human beings#Motor vehicle act 1998
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo