भारत

परिवार का पेट पालने के लिए मौर्य ने बचपन में बेची चाय और अखबार, जानिए पूरा प्रोफाइल

By haribhoomi.com | Mar 18, 2017 |
kesav
लखनऊ. उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में भाजपा को मिली प्रचंड जीत के बाद प्रेदश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य अब यूपी का उप-मुख्यमंत्री बनाया गया है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की ही तरह मौर्य भी बचपन में चाय बेच चुके हैं। 
 
* विधानसभा चुनाव में दिन रात कड़ी मेहनत से पिछडे वर्ग के लोगों को पार्टी के पक्ष में करने में कामयाब रहे मौर्य मुख्यमंत्री की रेस में थे, मगर योगी आदित्यनाथ को विधायक दल का नेता चुना गया। 
 
* भाजपा में 47 वर्षीय मौर्य का कद तेजी से बढ़ा है। उत्तर प्रदेश का 2012 विधानसभा जीतने के बाद 2014 में उन्हें लोकसभा का टिकट दिया गया और वह जीते भी। 
 
* मौर्य को 2016 में भाजपा का प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया और उन्होंने विधानसभा चुनाव में ‘‘265 प्लस' का लक्ष्य लेकर काम शुरु किया। कौशाम्बी जिले के किसान परिवार में जन्मे मौर्य का बचपन गरीबी में बीता। 
 
* प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की ही तरह उन्होंने भी चाय की दुकानों पर काम किया। पढ़ाई री रखने और परिवार की मदद के लिए अखबार बेचे। लोकसभा की वेबसाइट पर मौर्य के पृष्ठ पर अंकित है कि चाय बेचते हुए बचपन में उन्हें समाज सेवा करने और पढ़ाई लिखाई करने की प्रेरणा मिली।
 
* मौर्य राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के बाल स्वयंसेवक बने। बाद में विश्व हिन्दू परिषद और बजरंग दल से जुड़े। विहिप और बजरंग दल के साथ 12 साल जुड़े रहने के दौरान मौर्य को विहिप के संरक्षक अशोक सिंघल का नजदीकी माना जाता था।
 
* अपने आक्रामक भाषणों के लिए मशहूर मौर्य अयोध्या प्रकरण में जेल गये थे। गौरक्षा आंदोलन में भी उन्हें जेल जाना पडा था।
 
* मौर्य ने 2012 में इलाहाबाद जिले की सिराथू सीट से विधानसभा चुनाव जीता था। फूलपुर से 2014 का लोकसभा चुनाव लड़ा और जीत गए। देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरु का संसदीय क्षेत्र भी फूलपुर था। 
 
* लोकसभा चुनाव में भाजपा को गैर यादव ओबीसी और गैर जाटव दलितों का भरपूर समर्थन मिला था। इसी का नतीजा था कि भाजपा ने लक्ष्मीकांत बाजपेयी को हटाकर मौर्य को प्रदेश भाजपा की कमान सौंपी। 
 
* मौर्य ओबीसी (अन्य पिछडा वर्ग) से आते हैं।मौर्य ने उत्तर प्रदेश में भाजपा जिलाध्यक्षों के रुप में कुशवाहा, कोइरी, कुर्मी, शाक्य, पटेल और अन्य जातियों को नियुक्त किया।
 
* उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और वर्तमान में राजस्थान के राज्यपाल कल्याण सिंह के बाद मौर्य भाजपा के ऐसे दूसरे नेता हैं, जिन्हें ओबीसी और दलितों में जबर्दस्त समर्थन हासिल है।
 
 
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
  • Post a comment
  • Name *
  • Email address *

  • Comments *
  • Security Code *
  • QJEXX
  •       
    कमेंट्स कैसे लिखें !
    जिन पाठकों को हिन्दी में टाइप करना आता है, वे युनीकोड मंगल फोंट एक्टिव कर हिन्दी में सीधे टाइप कर सकते हैं। जिन्हें हिन्दी में टाइप करना नहीं आता वे Roman Hindi यानी कीबोर्ड के अंग्रेजी अक्षरों की मदद से भी हिन्दी में टाइप कर सकते हैं। उदाहरण के लिए यदि आप लिखना चाहें- “भारत डिफेंस कवच एक उपयोगी पोर्टल है’, तो अंग्रेजी कीबोर्ड से टाइप करें, bharat defence kavach ek upyogi portal hai. हर शब्द के बाद स्पेस बार दबाएंगे तो अंग्रेजी का अक्षर हिन्दी में टाइप होता चला जाएगा। यदि आप अंग्रेजी में अपने विचार टाइप करना चाहें तो वह विकल्प भी है।
    Haribhoomi
    Haribhoomi on Social Media
    कपिल ने की मारपीट तो सुनील के साथ चंदू और नानी ने भी छोड़ा शो

    कपिल ने की मारपीट तो सुनील के साथ चंदू ...

    इस विवाद का सीधा असर द कपिल शर्मा शो पर पड़ रहा है।

    कमल हासन ने धार्मिक ग्रंथ महाभारत पर की अभद्र टिप्पणी, हिंदू संगठन ने खोला मोर्चा

    कमल हासन ने धार्मिक ग्रंथ महाभारत पर की ...

    कमल हासन ने महाभारत को महिलाओं का अपमान वाला ग्रंथ बताया है।

    मीडिया पर भड़की आलिया भट्ट की बहन शाहीन, सुनाई खरी-खोटी

    मीडिया पर भड़की आलिया भट्ट की बहन ...

    शाहीन ने लिखा कि मीडिया वाले किसी के दु:ख को कैसे एक पार्टी बना सकते हैं।