Breaking News
Top

नया कानून: अब बलात्कारियों को मिलेगी फांसी की सजा!

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Nov 2 2017 2:31PM IST
नया कानून: अब बलात्कारियों को मिलेगी फांसी की सजा!

शादी का झांसा देकर किसी लड़की के साथ लिव इन रिलेशन में रहना अब मंहगा पड़ सकता है। वहीं अगर इसे लेकर महिला पार्टनर पुलिस में सेक्सुअल हेरेसमेंट की रिपोर्ट दर्ज कराती है तो आरोपी शख्स को 7 साल तक की जेल हो सकती है।

सरकार अब बलात्कारियों के लिए भी कड़ा काननू बनाने पर विचार-विमर्श कर रही है। इस संबंध में मध्य प्रदेश सरकार सीआरपीसी (दण्ड प्रक्रिया संहिता) की धाराओं में बदलाव करके एक नई धारा को जोड़ने जा रही है। साथ ही सरकार दस साल से कम उम्र की लड़की से दुष्कर्म करने वाले आरोपी को अधिकतम फांसी की सजा देने का भी प्रावधान बना रही है।

इसे भी पढ़ें- खौफनाक! बेटी से छेड़छाड़ करने से रोका तो बदमाशों ने पिता को जिन्दा जलाया

इस बदलाव के लिए चीफ सेक्रेटरी बीपी सिंह की अध्यक्षता में हुई सीनियर सेक्रेटरी कमेटी में इस प्रपोजल पर सहमति बन गई है। जिसके बाद यह कयास लगाया जा रहा है कि आने वाले कुछ दिनों में ये प्रस्ताव कैबिनेट की मंजूरी के पेश किया जाएगा फिर बिल के रूप में आने वाले सत्र में। इसके बाद विधानसभा में बिल पास होने के बाद इसे राष्ट्रपति की मंजूरी के लिए भेज दिया जाएगा।

विधि विभाग द्वारा पेश किए गए प्रपोजल के अनुसार, महिलाओं के साथ होने वाले शोषण के मामलों को रोकने के लिए 10 साल से कम उम्र की लड़की से रेप करने पर कम से कम 14 साल व गैंगरेप करने वाले को 20 साल की सजा भुगतनी होगी। इस प्रस्ताव के पारित होने के बाद कोर्ट इससे कम सजा नहीं दे सकेगा।

इसे भी पढ़ें- 500 रुपए में बिक रही है भारतीयों की बैंक डिटेल्स, पाकिस्तान से जुड़े हैं तार

वहीं अधिकतम सजा में फांसी प्रस्तावित है। साथ ही महिलाओं के साथ रेप केस में आजीवन कारावास के कानून में को भी बदलने का प्रस्ताव है। जिसके बाद आजीवन कारावास का मतलब पूरी जिंदगी जेल में बिताना होगा। 

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
mp govt include new section in crpc for sexual harrasment rape cases and live in relationship

-Tags:#Code of Criminal Procedure#Rape#Sexual Harassment#Law#MP Govenment
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo