Breaking News
Top

तस्वीरों के जरिए जान सकते हैं आप डिप्रेशन में हैं या नहीं

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Aug 16 2017 12:03PM IST
तस्वीरों के जरिए जान सकते हैं आप डिप्रेशन में हैं या नहीं

अक्सर जब लोग परेशान होते हैं, स्ट्रेस या डिप्रेशन में होते हैं तो उनका स्टेटस बदल जाता हैं। वह सोशल मीडिया पर उसी तरह से बिहेव करने लगते हैं। डिप्रेस्ड कोटेशंस पोस्ट करते हैं।

लेकिन क्या आप जानते हैं सोशल मीडिया पर आपकी तस्वीरों के जरिए भी आसानी से जाना जा सकता है कि आपको डिप्रेशन है या नहीं। हाल ही में आई रिसर्च के मुताबिक, यह दावा किया जा रहा है कि इंस्टाग्राम पर पोस्ट की गई फोटोज से आसानी से पता लग सकता है कि आप डिप्रेस्ड है या नहीं।

इसे भी पढ़े:- जानें क्या है इंसेफेलाइटिस, ऐसे करें इससे बचाव

यह कहती है रिसर्च-

रिसर्च के मुताबिक, इंस्टाग्राम पर शेयर की गईं फोटो आपकी मेंटल हेल्थ के बारे में बताती हैं। आमतौर पर फोटो एक्सप्रेशंस, स्टाइल और पर्सनेलिटी को रिफलेक्ट करती हैं। लेकिन यह उससे भी कहीं अधिक चीजें बता सकती है।

रिसर्च में कहा गया है कि शेयर की गई फोटोज आपकी मेंटल हेल्थ से रिलेटिड हिंट्स देती हैं। जर्नल ‘ईपीजे डेटा साइंस’ में कहा गया कि इंस्टाग्राम पर फोटो शेयर करने से पहले लोग फोटो में जो बदलाव करते हैं।

जैसे की कलर फिल्टर्स चेंज करना या उसकी क्वालिटी इंहैंस करना उससे लोगों की मेंटल स्टेट का पता लगता है। स्टडी में यह भी कहा गया है कि डिप्रेशन के शिकार लोग सामान्य लोगों की तुलना में दुनिया को अपने अलग नजरिए से देखते हैं।

एक्सपर्ट कहते हैं

हार्वर्ड यूनिवर्सिटी के शोधकर्ता और उनके सह-लेखक का कहना है कि रिसर्च में देखा गया जो लोग डिप्रेशन से गुजर रहे थे वह अपनी फोटोज को ज्यादातर ब्लू, ग्रे और डार्कर टोन्स में अपलोड करना पसंद करते हैं।

इसे भी पढ़े:-  घर के इन सामानों की भी होती है एक्सपायरी डेट, तुरंत बदल दें वरना.....

ऐसे की गई रिसर्च-

शोधार्थियों ने कुछ प्रतिभागियों को चुना और उन्हें ‘डिप्रेस्ड’ या ‘हेल्दी’ का टैग उनकी मेडिकल रिपोर्ट्स के आधार पर दिया। इसके बाद उन्होंने इंस्टाग्राम पर अपलोडिड फोटोज में पैटर्न्स ढूंढने के लिए मशीन-लर्निंग टूल्स का इस्तेमाल किया।

नतीजे

रिसर्च में पाया गया कि डिप्रेस्ड प्रतिभागियों ने इंस्टाग्राम फिल्टर्स का उपयोग कम किया है। यह यूजर्स ‘इंकवेल’ फिल्टर का प्रयोग ज्यादा करते हैं, जो उस फोटो के कलर को ड्रेन कर देता है और उसे ब्लैक एंड व्हाइट बना देता है।

हेल्दी यूजर्स ने ‘वेलेंसिया’ फिल्टर का प्रयोग ज्यादा किया है जो फोटो के कलर को हल्का कर देता है। डिप्रेस्ड प्रतिभागी ज्यादातर अपने फेस की फोटो डालते हैं लेकिन दूसरी ओर हेल्दी प्रतिभागी अपनी फोटोज को अलग-अलग पोज और पोश्चर्स में डालना पसंद करते हैं। 

      

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
through pictures can know you are in depression or not

-Tags:#Harvard University#Depression#Instagram#'Epj Data Science'
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo