Breaking News
भारतीय क्रिकेटर मोहम्मद शम्मी के खिलाफ पति से विवाद मामले में कोर्ट ने जारी किया समनएयरफोर्स का MiG-21 क्रैश, पायलट लापता, करीब एक घंटे से जारी खोजबीनCM नीतीश कुमार ने बिहार में किन्नरों को सुरक्षा गार्ड बनाने को लेकर की बैठकपीएम मोदी पहुंचे संसद भवन, कहा- देशहित में बहस जरूरी, सार्थक बहस करे विपक्षशशि थरूर ने हिंदू 'पाकिस्तान राष्ट्र' के बाद 'हिंदू तालिबान' को लेकर दिया विवादित बयानकर्नाटकः बस स्टैंड में लड़कियों को छेड़ रहे थे, पुलिस ने 6 मनचलों को किया गिरफ्तारकेरलः भारी बारिश के कारण प्राइवेट और सरकारी स्कूल को बंद करने का निर्देशग्रेटर नोएडा हादसा: 6 मंजिला इमारत गिरने से अब तक 3 लोगों की मौत, NDRF की टीम पहुंची
Top

कम सैलरी पर वर्किंग लोग ज्यादा बीमार पड़ते हैं, ये है कारण

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Nov 23 2017 11:33AM IST
कम सैलरी पर वर्किंग लोग ज्यादा बीमार पड़ते हैं, ये है कारण

बेरोजगार की तुलना में कम सैलरी वाले लोग ज्यादा बीमार होते हैं। उनमें तनाव का स्तर ज्यादा होता है, जिस वजह से वह बार-बार बीमार पड़ते हैं।

हाल ही में हुई एक रिसर्च के मुताबिक इस बात का दावा किया गया है कि जो लोग बेरोजगार होते हैं वह कम बीमार पड़ते हैं, जबकि जो लोग कम सैलरी पर काम करते हैं वह ज्यादा बीमार पड़ते हैं।

ऐसे की गई रिसर्च

ब्रिटेन में मैनचेस्टर युनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों ने साल 2009 से 2010 में एक साल के दौरान 35 से 75 साल की आयु के एक हजार बेरोजगार लोगों को ऑब्सर्व किया। इस दौरान इन लोगों के स्वास्थ्य और हार्मोन्स पर होने वाले बदलावों पर नजर रखी गई।

यह भी पढ़ें: इन देशों में घूमने का सपना होगा साकार, बस अपनाएं ये तरीका

यह निकला निष्कर्ष

एक साल के ऑब्सर्वेशन और इकट्ठा किए गए आंकड़ों के आधार पर यह नतीजा निकाला गया कि बेरोजगार लोगों की तुलना में वह लोग ज्यादा बीमार होते हैं, जो कम सैलरी में काम करते हैं। यह रिसर्च इंटरनेशनल जर्नल ऑफ एपिडेमायलॉजी में प्रकाशित किया गया।

ADS

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
research working on less salary comparison to unemployed

-Tags:#Research#Men Health#Women Health

ADS

ADS

मुख्य खबरें

ADS

ADS

ADS

ADS

Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo