Hari Bhoomi Logo
मंगलवार, जुलाई 25, 2017  
Breaking News
Top

बुढ़ापे में योग करने से कमजोर नहीं होती है यादाश्त: रिसर्च

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Jul 18 2017 6:29AM IST
बुढ़ापे में योग करने से कमजोर नहीं होती है यादाश्त: रिसर्च

वैसे तो योग करना आपके शारीरिक स्वास्थ्य के लिए अच्छा होता है। मगर इसका एक और फायदा है जो वृद्धावस्था में आपको समझ में आएगा। 

एक शोध में यह बात सामने आई है कि लंबे समय तक योग करना आपके मस्तिष्क की संरचना को बदल सकता है। यानी योग करने से बुढ़ापे में समझ-बूझ में आने वाली कमी और यादाश्त को कमजोर होने से बचा सकता है। 

इसे भी पढ़ें- बॉडी को डिटॉक्स करने के लिए ये हैं 5 बेस्ट हेल्दी ड्रिंक्स

जर्नल फ्रंटियर्स इन एजिंग न्यूरोसाइंस के रिसर्च के मुताबिक, योग की तरह की प्रैक्टिस करने से ऐसा हो सकता है। ब्राजील के साओ पाउलो में हॉस्पिटल इजरैलिटा अल्बर्ट आइंस्टीन की शोधकर्ता एलिसा कोजासा ने कहा कि मांसपेशियों की तरह ही मस्तिष्क भी प्रशिक्षण से डेवलप होता है।

उम्र बढ़ने के साथ ही मस्तिष्क की संरचना और कार्यक्षमता में बदलाव होता है और इससे अक्सर ध्यान, स्मृति में कमी हो जाती है। इस दौरान मस्तिष्क में एक ऐसा बदलाव होता है, जिसमें सेरेब्रल कॉर्टेक्स पतला हो जाता है, जो वैज्ञानिकों के अनुसार संज्ञानात्मक गिरावट से संबंधित है।

इसे भी पढ़ें- बालों का गंजापन और गंभीर बीमारियों से निजात दिलाती है कलौंजी

बता दें कि शोधकर्ताओं ने योग करने वाली बुजुर्ग महिलाओं के दिमाग की इमेज ली तो उन्होंने पाया कि उनके बाएं प्रीफ्रंटल कॉर्टेक्स में अधिक कॉर्टिकल की मोटाई अधिक थी।

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
research says yoga may protect against memory decline in old age

-Tags:#Yoga#Health
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo