Top

दुनिया में भारत का फिर बजा डंका, योग के बाद आयुर्वेद को मिली अहमियत!

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Nov 2 2017 12:03PM IST
दुनिया में भारत का फिर बजा डंका, योग के बाद आयुर्वेद को मिली अहमियत!

दुनिया में अब तक भारत को सिर्फ योग के लिए जाना जा रहा था। इसके बाद उपचार के मामले में आयुर्वेद को दुनिया के तमाम देशों में अहमियत मिल रही है।

मधुमेह यानी डायबिटीज के इलाज के लिए दुनिया भर में आयुर्वेदिक दवाओं पर शोध चल रही है। इसी सिलसिले में बैंकॉक में गुरुवार से तीनदिवसीय सम्मेलन का आयोजन किया जा रहा।

भारत से आधा दर्जन संस्थान

डायबिटीज से संबंधित अब तक कोई आयुर्वेदिक उपचार नहीं किया गया है। भारत समेत कई देशों में इसके लिए शोध किए गए हैं। इस सम्मेलन में भारत के करीब आधा दर्जन संस्थान अपने शोध की रिपोर्ट प्रस्तुत करेंगे।

यह भी पढ़ें: इस उम्र में करें मां बनने की तैयारी, नहीं तो जच्चा-बच्चा दोनों को होगा ये नुकसान

शामिल होंगे ये देश

सम्मेलन में अमेरिका, फ्रांस, रूस, ईरान, ब्रिटेन, तुर्की, ब्राजील, जापान और फिलीपीन्स के शोधकर्ता शामिल होंगे। ये सभी डायबिटीज के लिए आयुर्वेदिक उपचार पर चर्चा करेंगे।

ADS

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
ayurverda treatment diabetes india popular world

-Tags:#Ayurveda#Diabetes
mansoon
mansoon

ADS

ADS

मुख्य खबरें

ADS

ADS

ADS

ADS

Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo