Breaking News
Top

गांव का वह शायर प्रेमी बेचारा बडा ही शर्मीला था...

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Nov 23 2017 5:12PM IST
गांव का वह शायर प्रेमी बेचारा बडा ही शर्मीला था...

गांव का वह शायर प्रेमी बेचारा बडा ही शर्मीला था

जब उसका प्रेम शहर की एक चंचल युवती से हो गया ,

तो सब को हैरानी थी कि वह कैसे उसके सामने विवाह का प्रस्ताव रखेगा |

 
बाद में मालूम पडा , उसने युवती से इस रूप में कहा -
 
नूरजहां , मेरे घर के लोगों के साथ दफनाया जाना तुम पसन्द करोगी क्या ?
(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
joke hindi jokes ganav ka vah shayar premi bechara bada hi sharmila tha

-Tags:#hindi jokes#funny jokes#Chutkule
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo