Top

जम्मू-कश्मीर: सेना का बयान, आतंकी पुलिस और सेना की एकता को तोड़ना चाहते हैं

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Jul 24 2017 1:49AM IST
जम्मू-कश्मीर: सेना का बयान, आतंकी पुलिस और सेना की एकता को तोड़ना चाहते हैं

शनिवार को गांदरबल में एक चेकपोस्ट पर जांच के सेना और पुलिसकर्मियों की बीच हुई हाथापाई के बीच सेना की ओर से प्रतिक्रिया आई है। सेना ने कहा है कि कुछ देशद्रोही पुलिस और सेना के बीच दूरियां पैदा करने की कोशिश कर रहे हैं।

उनके ये इरादे हम कभी कामयाब नहीं होने देंगे। वे दोनों के बीच एकता को तोड़ना चाहते हैं। सेना ने कहा कि हम दो भाइयों की तरह साथ काम करते रहेंगे।

इसे भी पढ़ें: नेहरू-गांधी और अब्दुल्ला परिवार हैं कश्मीर समस्या का कारण: BJP

बता दें कि शनिवार को जम्मू-कश्मीर के गांदरबल में एक चेक पोस्ट पर आर्मी जवानों को पुलिस द्वारा रोके जाने के बाद दोनों के बीच झड़प हुई थी। इसमें एक सब इन्सपेक्टर समेत 6 पुलिसवाले घायल हो गए थे। पुलिस ने इस बारे में सेना से विरोध दर्ज कराया था।

कार्ड दिखाने पर हुई थी बहस

वहीं हाथापाई की जानकारी डीजीपी एसपी. वैद ने लेफ्टिनेंट जनरल संधू को फोन पर दी थी और आर्मी जवानों की हरकत पर विरोध जताया। मामले में संधू ने वैद को भरोसा दिलाया कि जो भी जवान इस घटना में शामिल थे, उनके खिलाफ एक्शन होगा।

इसे भी पढ़े:- पाकिस्तान ने फिर की नापाक हरकत,एक जवान शहीद, एक घायल

जानकारी है कि जवान सिविल ड्रेस में थे। पुलिस ने इनसे आईडेंटिटी कार्ड्स दिखाने को कहा था। शुरुआती बातचीत बहस में बदली और बाद में दोनों के बीच मारपीट हुई।

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
terrorists want to break the unity of army police in jammu kashmir

-Tags:#Jammu-Kashmiri#Terror#Police and Army
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo