Hari Bhoomi Logo
सोमवार, सितम्बर 25, 2017  
Breaking News
Top

पढ़िए, सेना और लश्कर कमांडर अबु दुजाना के बीच हुई थी क्या बातें, दुजाना ने क्यों दी सेना को बधाई?

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Aug 3 2017 10:05AM IST
पढ़िए, सेना और लश्कर कमांडर अबु दुजाना के बीच हुई थी क्या बातें, दुजाना ने क्यों दी सेना को बधाई?

 जम्मू-कश्मीर के पुलवामा के हकीरापोरा में बुधवार को हुए मुठभेड में लश्कर-ए-तैयबा का टॉप कमांडर अबु दुजाना मारा गया। इस बीच जानकारी मिली है कि सेना ने उस घर को उड़ाने से पहले जिसमें दुजाना छुपा हुआ था, अधिकारियों ने एक स्थानीय कश्मीरी के जरिए उससे बात की थी। सेना ने उससे सरेंडर के लिए कहा था, इस पर दुजाना ने ऐसा करने से साफ मना कर दिया था। साथ ही उसने कहा कि वो अपने पीछे गिलगित-बल्टिस्तान में अपने माता-पिता को जिहाद के लिए छोड़कर आया है। 

इसे भी पढ़ेंः J&K पुलिस ने पाक हाईकमीशन से कहा- वापस ले जाओ अबू दुजाना का शव

टाइम्स ऑफ इंडिया के अनुसार, दुजाना और सेन्य अधिकारियों के बीच हुई इस बात में दुजाना बेहद ही शांति से बातचीत करते हुए सुनाई देता है। दुजाना ने अधिकारी से पूछा, 'क्या हाल है? मैंने कहा, क्या हाल है?' इसके बाद आर्मी ऑफिसर ने दुजाना से कहा, 'हमारा हाल छोड़ दुजाना, तू सरेंडर क्यों नहीं कर देता। तेरी इस लड़की से शादी हुई है और तू जो इसके साथ कर रहा है वह ठीक नहीं है।' 
 
सेन्य अधिकारी दुजाना से कहते हैं कि 'तुम्हें पाकिस्तानी एजेंसियां इस्तेमाल कर रही हैं और वह मासूम कश्मीरियों के लिए परेशानी का सबब बन गया है।' 
 
इस पर दुजाना ने कहा, 'हम निकले थे शहीद होने, मैं क्या करूं। जिसको गेम खेलना है खेले, कभी हम आगे, कभी आप। आज आपने पकड़ लिया, मुबारक हो आपको। जिसको जो करना है कर लो।' उसने आगे कहा, 'मैं सरेंडर नहीं कर सकता। जो मेरी किस्मत में लिखा है वही होगा। अल्लाह वही करेगा, ठीक है।'
 
 
इस पर अधिकारी दुजाना से कहते हैं वह अपने माता-पिता के बारे में सोचे लेकिन उसके ऊपर इस बात का कोई फर्क नहीं पड़ा। उसने कहा, 'मां-बाप तो उस दिन मर गए जिस दिन मैं उनको छोड़कर आया।' भारतीय सेना के अधिकारियों ने यह भी कहा कि वह पाकिस्तान से घुसपैठ कर आए आतंकियों को जान से नहीं मारना चाहते। 
 
उन्होंने दुजाना यह भी कहा कि अल्लाह नहीं चाहता कि किसी को कोई नुकसान पहुंचे। सेना अधिकारियों ने दुजाना से कहा, 'अल्लाह सबके लिए एक जैसा है।' हालांकि इसके जवाब में उसने सेना अधिकारी से कहा, 'अगर अल्लाह मेरे और तुम्हारे लिए एक जैसा है तो आओ, घर के भीतर मुझसे मुलाकात करो।' उसने यह भी कहा कि उसे पूरा 'खेल' समझ में आ रहा है कि उसे पाकिस्तानी एजेंसियों ने मोहरा बनाया है।
 
टेप में अधिकारी को दुजाना से यह अपील करते सुना जा सकता है कि कश्मीरियों को बचाओ और उन्हें आतंक के लिए इस्तेमाल मत करो लेकिन दुजाना ने एकदम से बातचीत बंद कर दी। 
(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
talks between abu dujana and army officers

-Tags:#Abu Dujana#Pulwama#Jammu Kashmir#Lashkar e Taiba#Burhan Wani
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo