Breaking News
Top

खट्टर सरकार को बर्खास्त कर राष्ट्रपति शासन लगाया जाएः सुरजेवाला

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Aug 31 2017 2:48AM IST
खट्टर सरकार को बर्खास्त कर राष्ट्रपति शासन लगाया जाएः सुरजेवाला

डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को सजा सुनाए जाने के बाद राज्य में हुई हिंसा की घटनाओं और उनपर काबू पाने में राज्य सरकार की असफलता पर प्रहार करते हुए कांग्रेस के राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी रणदीप सिंह सुरजेवाला ने बुधवार को कहा कि हरियाणा सरकार को तुरंत बर्खास्त कर राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाया जाना चाहिए। 

सुरजेवाला ने कहा कि भाजपा नेता और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सत्ता के नशे में चूर हैं, उन्हें लोगों की पीड़ा समझ में नहीं आ रही। हरियाणा सरकार आस्था के नाम पर अपनी नाकामी छिपा रही है। डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम के मामले में पंचकूला और सिरसा में जिस तरह कानून-व्यवस्था की धज्जियां उड़ीं और प्रदेश को जलने के लिए छोड़ दिया गया, उसमें अब खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अग्निपरीक्षा है। 

इसे भी पढ़ेंः- डोकलाम विवाद के बाद ब्रिक्स सम्मलेन में जिनपिंग से मुलाकात कर सकते हैं पीएम मोदी

प्रधानमंत्री को अब अपना राजधर्म निभाने की नसीहत देते हुए रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि देखना यह है कि प्रधानमंत्री हरियाणा में हुई हिंसा को लेकर अपना राजधर्म निभाते हैं या अपने सखा सीएम मनोहर लाल को बचाने का काम करते हैं। रणदीप सुरजेवाला आज जींद में कांग्रेस नेता जयवीर बिसला के निधन पर शोक जताने पहुंचे थे। 

यहां पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार को तुरंत बर्खास्त कर वहां राष्ट्रपति शासन लगा देना चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि भाजपा नेता और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सत्ता के नशे में चूर हैं। उन्हें लोगों की पीड़ा समझ में नहीं आ रही और हरियाणा सरकार आस्था के नाम पर अपनी नाकामी छिपा रही है। 

उन्होंने कहा कि आस्था के नाम पर पंचकूला जैसे शहर को सरकार ने जलने दिया। इस मामले में खट्टर सरकार औंधे मुंह गिरी है। कुल 42 लोगों की जान चली गई और करोड़ों रुपए की संपत्ति स्वाहा हो गई। इसके लिए भाजपा सरकार का निकम्मापन और मुख्यमंत्री मनोहरलाल सीधे-सीधे जिम्मेदार हैं। प्रदेश की जनता ने पूरे 72 घंटे हिंसा का तांडव देखा। 

सुरजेवाला ने कहा कि यह तीसरा मौका है जब एक षडयंत्र के तहत प्रदेश की जनता को हिंसा की आग में धकेला गया। सुरजेवाला ने कहा कि पिछले साल जाट आरक्षण के नाम पर पूरे 10 दिन तक हिंसा का मंजर जनता ने देखा। सरकार पूरी तरह से फेल नजर आई। आरक्षण के नाम पर 32 लोगों की जान चली गई। उस समय सीएम और उनकी सरकार कहीं नजर नहीं आई। 

उसके बाद बरवाला में रामपाल प्रकरण में छह लोगों की जान चली गई। तब भी सरकार हाथ पर हाथ रखे बैठी रही। अब पंचकूला में सरकार की नाकामी सबके सामने है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राजधर्म निभाने की बजाए अपने सखा को बचा रहे हैं। उन्हें हरियाणा की जनता की पीड़ा समझ में नहीं आ रही।

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
surjewala says khattar government fails to stop the violence

-Tags:#Haryana#Panchkula Violence#Dera Sacha Sauda Chief Gurmeet Ram Rahim#Randeep Singh Surjewala
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo