Breaking News
महाराष्ट्रः पेट्रोल डीजल की बढ़ती कीमतों पर CM देवेंद्र फडणवीस ने दिया बड़ा संकेत, ये है GST लागू होने पर नुकसानप्रतिनिधिमंडल के साथ दो दिवसीय दौरे पर भारत पहुंचे नीदरलैंड के PM मार्क रुट, पीएम मोदी के साथ करेंगे बैठकPM मोदी ने क्रिकेटर विराट कोहली का फिटनेस चैलेंज किया स्वीकार, लिखा- चैलेंज स्वीकार जल्द शेयर करुंगा वीडियोपेट्रोल-डीजल के दामों में 11वें दिन भी जारी बढ़ोत्तरी, पेट्रोल 30 पैसा और डीजल 19 पैसा हुआ मंहगा10वीं दिन भी पाक की तरफ से सीजफायर का उल्लंघन, नौशेरा सेक्टर में 1 घायललगातार हार से कांग्रेस में फंड का टोटा, AICC ने प्रदेश कमेटी के ऑफिस का खर्चा-पानी बंद कियाझारखंड को मिलेगी 27000 करोड़ की सौगात, 25 मई को पीएम मोदी करेंगे शिलान्यासRSS का राहुल गांधी पर तीखा हमला, कहा- खोई जमीन वापस पाने के लिए समाज को बांटने की कोशिश
Top

रयान स्कूल केस में इन लोगों पर भी घूम रही है शक की सूई

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Sep 13 2017 4:02PM IST
रयान स्कूल केस में इन लोगों पर भी घूम रही है शक की सूई
रयान इंटरनेशनल स्कूल में दूसरी कक्षा के छात्र प्रद्युमन की हत्या की गुत्थी सुलझने की बजाए उलझती जा रही है। इस मामले में मुख्य आरोपी बस के कंडक्टर अशोक को पुलिस पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है। लेकिन, अब कई गवाह सामने आने से हत्या में किसी और के शामिल होने का भी शक हो रहा है। 
 
खास बात यह है कि जांच में स्कूल के ड्राइवर, माली, टीचर्स और अन्य प्रत्यक्षदर्शियों के अलग-अलग बयान आ रहे हैं। सभी में कोई तालमेल नहीं दिख रहा है। ऐसे में शक की सूई आरोपी कंडक्टर के अलावा किसी और का हाथ होने का भी संकेत कर रही है। 
 

सही दिशा में नहीं जा रही जांच

यही वजह है कि प्रद्युमन के पिता वरूण ठाकुर लगातार सीबीआई जांच की मांग कर रहे हैं। उनका मानना है कि पुलिस जांच सही दिशा में नहीं जा रही है। उसने सिर्फ कंडक्टर को निशाना बनाते हुए अपनी थ्योरी गड़नी शुरू कर दी है। इस गुत्थी को अब सीबीआई ही सुलझा सकती है।
 
 
पुलिस की मानें तो कंडक्टर ने चाकू से प्रद्युमन की हत्या की और यह हथियार बस की टूल किट का हिस्सा था। लेकिन, बस का ड्राइवर चाकू को टूल किट पार्ट नहीं मान रहा है। सवाल यह भी है कि अगर चाकू बस की टूल किट का हिस्सा था तो कंडक्टर स्कूल में इसे छिपाकर नहीं ले जाना था। 
 

साक्ष्यों को साथ छेड़छाड़ की गई

साथ ही पोस्ट मॉर्टम रिपोर्ट में दुराचार नहीं होने की बात सामने आई है। जबकि कंडक्टर मान चुका है कि उसकी नीयत खराब हो गई थी। इस तरह कंडक्टर का बयान भी विरोधाभासी लग रहा है। 
 
इसके अलावा वारदात के समय घटनास्थल पर साक्ष्यों को साथ छेड़छाड़ की गई थी। सबूतों को मिटाने की कोशिश भी की गई। हैरानी की बात है कि प्रद्युमन की आवाज किसी ने क्यों नहीं सुनी। खास बात यह है कि ड्राइवर, माली, टीचर्स और गवाहों के बयानों में अंतर देखने को मिल रहे हैं।
 

कुछ छिपाने की हो रही है कोशिश

इससे साफ जाहिर है कि इस कांड में स्कूल के भीतर का कोई और शख्स भी शामिल हो सकता है। जिसे छिपाने की कोशिश की जा रही है और कंडक्टर को बली का बकरा बनाया जा रहा है। उधर, कंडक्टर को परिजन भी उसके निर्दोष होने की दलील दे रहे हैँ। उनका कहना है कि जिसके दो बच्चें हों, वो भला किसी के बच्चे की हत्या क्यों करेगा।
 
ऐसे में इस मामले में कई और लोग भी शक के दायरे में आ सकते हैं। इसके लिए पुलिस स्कूल प्रशासन के लोगों से भी पूछताछ कर गिरफ्तारी भी कर सकती है। लेकिन, उसकी राह इतनी आसान नहीं दिख रही है।

ADS

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
ryan international school student praduman murder case get complicated

-Tags:#Gurgaon#Ryan International school#Haryana#Pradyuman Thakur

ADS

ADS

मुख्य खबरें

ADS

ADS

ADS

ADS

Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo