Top

Exclusive : सारा जेन डियास की वजह से ही मैं 'टाइम आउट' के किसिंग सीन में हुआ था कम्फर्टेबल: ताहिर राज भसीन

राधाकृष्ण/नई दिल्ली | UPDATED Nov 30 2017 6:04PM IST
Exclusive : सारा जेन डियास की वजह से ही मैं 'टाइम आउट' के किसिंग सीन में हुआ था कम्फर्टेबल: ताहिर राज भसीन

ताहिर राज भसीन यूं तो बॉलीवुड फिल्म 'मर्दानी' और 'फोर्स 2' में दमखम दिखा चुके हैं। लेकिन अब उन्होंने वेब सीरीज की ओर रुख किया है। ताहिर भसीन हाल में शुरू हुई वूट.कॉम की वेब सीरीज 'टाइम आउट' में लीड रोल में है। उनके साथ सारा जेन डियास भी बेहद रोमांटिक रोल में नजर आ रही हैं। फिल्मकार दानिश असलम की इस वेब सीरीज में ताहिर भसीन ने कड़ी मेहनत की है। पेश हैं वेब सीरीज 'टाइम आउट', कैरेक्टर और करियर से जुड़े खास सवाल टैलेंडेट एक्टर ताहिर राज भसीन से :-

बॉलीवुड में अपना दमखम दिखने के बीच वेब सीरीज 'टाइम आउट' की ओर रुख करने की कोई खास वजह?

खास वजह यही है कि मौजूदा समय में वेब सीरीज का ट्रेंड चल रहा है। हॉलीवुड में भी इस तरह का ट्रेंड चल रहा है। वहां तो बड़ी हस्तियां वेब सीरीज में अपनी सफल मौजूदगी दर्ज करा रही हैं। भारत में अभी इसकी शुरुआत हो रही है। इसलिए वेब सीरीज 'टाइम आउट' को लेकर उत्साहित हूं। 

आखिर इस वेब सीरीज के कैसे जुड़ना हुआ? इसमें आपको क्या खास लगा? 

कुछ महीने पहले फिल्मकार दानिश असलम एक स्टोरी लेकर आए थे। जब मैंने सुनी तो बहुत दिलचस्प लगी। दरअसल, 'टाइम आउट' की स्टोरी मौजूदा भागदौड़ भरी जिंदगी में खुशियों की तलाश को लेकर है। यूथ ऑडियंस इससे खुद को रिलेट करती दिखेगी। इस सीरीज में मेरा रोल भी चेलैंजिंग है। मैं इसमें राहुल नाम के रोमांटिक किरदार में हूं। 

निगेटिव रोल में तो आपको ऑडियंस ने खूब पसंद किया है। लेकिन पहली बार रोमांटिक रोल में नजर आएंगे। इसके लिए क्या खास तैयारी करनी पड़ी आपको? 

बिलकुल। जब आप एक रोमांटिक हीरो की तरह एक्टिंग कर रहे हैं तो आपको चार्मिंग, एट्रेक्ट्रिव दिखने के साथ पूरे इमोशन भी जाहिर करने होते हैं। यह इतना आसान नहीं होता, जितना निगेटिव कैरेक्टर में है। निगेटिव कैरेक्टर में आपको फाइट, लाइटिंग, ड्रामेटिक म्यूजिक, कॉस्ट्यूम और अन्य प्रोप्स का सहारा मिल जाता है, लेकिन रोमांटिक रोल में बिना इमोशंस के काम नहीं चलने वाला है। 

पर्सनली आप कितने रोमांटिक नेचर के हैं? 

शुरुआत में मैंने सोचा था कि मेरी फिल्मों के परसेप्शन के मुताबिक ऑडियंस मुझे रफ एंड टफ और बेड ब्वॉय की इमेज में देखती होगी, लेकिन मेरी फीमेल ऑडियंस ने मुझे फिल्म 'मर्दानी' के ग्रे शेड्स में भी स्वीकार किया है। सच्चाई तो यह है कि मैं बेहद शाई और रोमांटिक नेचर का हूं। 

तो आपको लगता है कि आज की ऑडियंस काफी मैच्योर हो चुकी है?

बिल्कुल। फिल्म मर्दानी के बाद मैंने सोचा था कि लड़कियां मुझसे नफरत करना शुरू कर देंगी। लेकिन, मेरी फैन फॉलोइंग फीमेल में काफी बढ़ गई। इसकी वजह यही है कि आज की ऑडियंस किसी अच्छे कलाकार को एक ही दायरे में देखना नहीं चाहती है। यह दर्शकों की परिपक्वता का सबूत ही है। इरफान खान, शहिद कपूर और सैफ अली खान ने अपने को हर तरह के रोल में साबित किया है। 

'टाइम आउट' के टाइटल और इसकी स्टोरी लाइन के बारे में कुछ बताइए? 

टाइम आउट का मतलब यही है कि खुद के लिए समय निकालना। हम सोशल मीडिया पर तो अपनी खुशी का इजहार करते हैं, लेकिन असल जिंदगी में अंदर से कितने खुश हैं, इस पर गौर नहीं करते हैं। इस मुद्दे को 'टाइम आउट' में एंटरटेनिंग तरीके से दिखाया गया है। 

वैसे आप अपनी जिंदगी में कितने खुश हैं? क्या आप अपने लिए समय निकाल पाते हैं? 

बहुत खुश हूं। असल में यही सवाल मुझसे तब पूछा गया था, जब में 20 साल की उम्र में नौकरी कर रहा था। वो मेरे स्ट्रगल का दौर था, मैं रूटीन काम नहीं करना चाहता था। एक्टिंग का भूत सवार था। इस सब के बीच भी मैंने खुशियों का साथ नहीं छोड़ा। मेहनत करता रहा और एक दिन मुझे फिल्म मर्दानी मिल गई। लाइफ में कुछ हटकर करना है तो रिस्क तो लेने पड़ते हैं।

अपनी को-स्टार सारा जेन डियास के साथ आपकी कैमिस्ट्री किस तरह की रही? 

मिस वर्ल्ड रह चुकी हैं सारा जैन डियास। इसलिए उनकी पर्सनैलिटी के आगे किसी का टिक पाना आसान नहीं है। सच्चाई तो यह है कि सारा बेहद खुश-मिजाज, ऑपन माइंडेड और बिंदास किस्म की हैं। रोमांटिक-किसिंग सीन में सारा डियास ने ही मुझे कम्फर्टेबल फील कराने में हेल्प की। मेरे लिए किसिंग और इंटिमेट सीन करना कतई आसान नहीं था। दरअसल, हम दोनों ऐसे कपल का रोल प्ले कर रहे हैं, जो पांच साल से ब्वॉयफ्रेंड-गर्लफ्रेंड के रूप में रिलेशनशिप में थे। 

फिल्मों में एक्टिंग और किसी वेब सीरीज में अदाकारी में आपने क्या अंतर महसूस किया? 

देखिए, फिल्मों में एक्टिंग वनडे और टेस्ट सीरीज की तरह है, जबकि वेव सीरीज ट्वंटी-ट्वंटी का मैच है। यहां आप एक महीने में ही पूरी वेब सीरीज पोस्ट प्रोड्क्शन के साथ पूरी कर सकते हैं, लेकिन फिल्मों में छह महीने से लेकर साल से ज्यादा का समय देना पड़ता है। वैसे अदाकारी में कोई खास फर्क नहीं है। 

आप दिल्ली के रहने वाले हैं, अपने एक्टिंग करियर में दिल्ली को कितना मिस करते हैं? 

बहुत मिस करता हूं। फिल्मों की कमिटमेंट में दिल्ली आना अब कम हो गया है। यहां का खाना मुझे खूब भाता है। वैसे मैं अपना बर्थडे और दिवाली दिल्ली में अपनी फैमिली के साथ ही सेलिब्रेट करता हूं।

आखिर में आप अपने फ्यूचर फिल्म प्रोजेक्ट्स के बारे में बताइए? 

यहां बताना चाहूंगा कि मैं फिल्म 'मंटो' में वर्क कर रहा हूं। नवाजुद्दीन सिद्दीकी इसमें मशहूर लेखक सआदत हसन मंटो का लीड रोल प्ले कर रहे हैं, जबकि मैं उस दौर के प्रख्यात बॉलीवुड अभिनेता श्याम चड्डा का रोल निभा रहा हूं। फिल्म में मंटो और श्याम की दिलचस्प जुगलबंदी भी देखने को मिलेगी। 

'टाइम आउट' का प्रोमो देखने के लिए नीचे दिेए लिंक पर क्लिक करें:-

 

https://www.voot.com/shows/time-out/1/547323/introducing-rahul-and-radha/550973

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
tahir raj bhasin says sarah jane dias making me comfortable in kissing scenes of web series time out

-Tags:#Tahir Raj Bhasin#Sarah Jane Dias#Danish Aslam#Web Series#Time Out
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo