Breaking News
Top

कभी शम्मी कपूर ने दिया था शादी का ऑफर, जानिए क्या था शम्मी कपूर और मुमताज के बीच संबंध

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Jul 31 2017 1:03PM IST
कभी शम्मी कपूर ने दिया था शादी का ऑफर, जानिए क्या था शम्मी कपूर और मुमताज के बीच संबंध

नटखट और क्यूट सी मुस्कान बिखेरने वाली मुमताज का नाम बॉलीवुड की बेहतरीन अभिनेत्रियों में से एक रही हैं। 70 के दशक में उनकी अदाकारी के सभी दीवाने हो गए थे। 

बॉलीवुड में जब उन्होंने कदम रखा तो उस वक्त की अधिकरत अभिनेत्रियां शर्मिली, सादगी और शांत स्वभाव की होती थी। लेकिन मुमताज ने अपनी अदाकारी और चुलबुले अंदाज से बॉलीवुड अभिनेत्रियों के सारे मायने ही बदल दिए। 

इसे भी पढ़ेंः- बर्थडे स्पेशल: बॉलीवुड से लेकर अंडरवर्ल्ड कनेक्शन तक ऐसा रहा मंदाकिनी का सफर

अभिनेत्री मुमताज का जन्म 31 जुलाई, 1947 को एक गरीब मुस्लिम परिवार में हुआ था। गरीब परिवार में पैदा होने की वजह से सिर्फ 12 वर्ष की उम्र में उन्हें बॉलीवुड में कदम रखने को मजबूर होना पड़ा। 

अपनी छोटी बहन मलिका के साथ वह रोजाना स्टूडियो के चक्कर लगाया करतीं और जैसी चाहे वैसी छोटी-मोटी भूमिका मांगती थीं। उनकी मां नाज और चाची नीलोफर पहले से फिल्मी दुनिया में मौजूद थीं। लेकिन दोनों जूनियर आर्टिस्ट होने के नाते अपनी बेटियों की सिफारिश करने के योग्य नहीं थीं।

मुमताज ने 70 के दशकों में बॉलीवुड के सभी बड़े सुपरस्टार संजीव कुमार, शशि कपूर, शम्मी कपूर, देवानंद, पहलवान दारा सिंह, दिलीप कुमार और जितेंद्र के साथ फिल्मों में काम किया। 

मुमताज ने गुजराती मूल के लंदनवासी मयूर वाधवानी नामक व्यवसायी से 1974 में शादी की और ब्रिटेन में जा बसीं। बता दें कि मुमताज जब 18 साल की थीं, तभी शम्मी कपूर ने उन्हें शादी के लिए प्रपोज किया था। मुमताज भी शम्मी से प्यार करती थीं। शम्मी चाहते थे कि मुमताज अपना फिल्मी करियर छोड़कर उनसे शादी कर लें, लेकिन मुमताज के इनकार के बाद शम्मी के साथ उनका प्रेम-संबंध खत्म हो गया।

इसे भी पढ़ेंः- बर्थडे स्पेशल: जानें कैसे शुरू हुआ मशहूर सिंगर सोनू निगम का सफर

आपको बता दें कि मुमताज की जोड़ी राजेश खन्ना और दारा सिंह के साथ सबसे ज्यादा सराही गई थी। उस समय मुमताज ने लगभग दस वर्ष तक बॉलीवुड पर राज किया। वह शर्मिला टैगोर के समकक्ष मानी गईं थी। 

ऐसा रहा मुमताज का बॉलीवुड करियरः-

मुमताज साल 1952 में आई फिल्म संस्कार में बतौर चाइल्ड आर्टिस्ट नजर आईं। इसके बाद लाजवंती(1958) और सोने की चिड़िया(1958) भी उन्होंने चाइल्ड एक्टर के तौर पर की। पहली बार बतौर हीरोइन वह ओ.पी.रहलान की फिल्म गहरा दाग(1963) में नजर आईं। लेकिन साल 1969 में राजेश खन्ना के साथ आई दो रास्ते ने उनके फिल्मी करियर के लिए मील का पत्थर साबित हुआ। 

पुरस्कारः-

मुमताज को 1967 में आई फिल्म राम और श्याम व 1969 में आई फिल्म आदमी और इंसान के लिए फिल्मफेयर बेस्ट सपोर्टिंग अभिनेत्री का अवार्ड मिला। फिर 1971 में फिल्म खिलौना के लिए फिल्मफेयर सर्वश्रेष्छ अभिनेत्री का पुरस्कार मिला था। 1996 में (आईफा) में लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड और 2008 में आईफा उत्कृष्ट योगदान मानद पुरस्कार से नवाजा गया। 

ये हैं मुमताज की चुनिंदा फिल्मों की लिस्टः- 

1966- सावन की घटा

1966- ये रात फिर ना आयेगी रीटा

1966- प्यार किये जा

1966- सूरज

1966- दादी माँ

1974- चोर मचाये शोर

1973- प्यार का रिश्ता

1973- लोफ़र

1973- झील के उस पार

1972- ताँगेवाला

1972- अपना देश

1972- रूप तेरा मस्ताना

1972- अपराध

1971- चाहत

1971- एक नारी एक ब्रह्मचारी

1971- जवान मोहब्बत

1971- तेरे मेरे सपने

1971- हरे रामा हरे कृष्णा

19690- जिगरी दोस्त

1969- दो रास्ते

1968- मेरे हमदम मेरे दोस्त

1968- ब्रह्मचारी

1967- पत्थर के सनम मीना

1967- हमराज़

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo