Breaking News
Top

दिल्ली HC का बड़ा आदेश: पीड़िता की चुप्पी यौन संबंध की सहमति नहीं

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Oct 22 2017 2:39PM IST
दिल्ली HC का बड़ा आदेश: पीड़िता की चुप्पी यौन संबंध की सहमति नहीं

रेप के एक मामले में दिल्ली हाईकोर्ट ने एक बड़ा आदेश दिया है। हाईकोर्ट ने अपने आदेश में रेप पीड़िता की चुप्पी को यौन संबंध के लिए सहमति मानने से इनकार कर दिया।

दिल्ली हाई कोर्ट ने ये आदेश एक गर्भवती महिला का बलात्कार करने के केस की सुनवाई करते हुए दिया है।

इस मामले में न्यायमूर्ति संगीता ढींगरा सहगल ने बलात्कार के दोषी व्यक्ति के बचाव पक्ष की दलील को खारिज कर दिया। 

इसे भी पढ़ें- शर्मनाक! सौतेले पिता ने 3 साल की मासूम को बनाया हवस का शिकार

इस मामले में एक व्यक्ति को 10 साल की सजा मिली है। इस केस में बचाव पक्ष ने पीड़िता की चुप्पी को यौन संबंध बनाने के लिए उसकी सहमति के सबूत के तौर पर पेश किया था।

आपको बता दें कि मुन्ना नाम के व्यक्ति ने साल 2015 में 19 साल की महिला के साथ बार-बार बलात्कार किया था। उस वक्त मुन्ना 28 साल का था।

उस वक्ती निचली अदालत ने मुन्ना को 10 साल की सजा सुनाई थी। इसे हाईकोर्ट ने बरक़रार रखा है।

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
rape victims silence is not proof of consent says delhi hc

-Tags:#Delhi High Court#Rape#Delhi#Crime News
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo