Breaking News
Top

एसबीआई लॉकर डकैती: इतने शातिर थे चोर, नहीं छोड़ा कोई सुराग

हरिभूमि ब्यूरो/ रायपुर | UPDATED Dec 3 2017 4:17AM IST
एसबीआई लॉकर डकैती: इतने शातिर थे चोर, नहीं छोड़ा कोई सुराग

विधानसभा के धनेली बायपास की एसबीआई ब्रांच के लॉकरों को काटकर साढ़े तीन करोड़ रुपए के जेवर और नकदी उड़ाने वाले बदमाश इतने शातिर थे कि फरार होने से पहले बहुत कम सुराग छोड़ा है। 

बैंक से 4 किमी दूर पुलिया के पास जो गैस सिलेंडर फेंका हुआ मिला, वह 5 किग्रा का मिनी घरेलू सिलेंडर है। इसी सिलेंडर और पाइप का इस्तेमाल लाॅकर काटने में किया गया है। 

सिलेंडर बेहद पुराना है, इससे उसकी पहचान करना बेहद मुश्किल है, लेकिन इससे साफ हो गया है कि बदमाशों ने धनेली बायपास के आसपास की कॉलोनी में किराए पर रहकर बैंक की रैकी की है। उसी गैस सिलेंडर पर खाना भी बनाया गया है। 

इसे भी पढ़ें- SC की फटकार के बाद भी रोज आधार लिंक के मैसेज, लोग परेशान

शनिवार को पुलिस जांच में सिलेंडर पर खाने का अंश मिला है। यही नहीं, सिलेंडर में बहुत मात्रा में गैस भी बची है। पुलिस अफसराें का कहना है, बदमाशों ने घरेलू गैस सिलेंडर और पाइप का बैंक लॉकर काटने में उपयोग किया है। 

सिलेंडर में रेगुलेटर का जरूर उपयोग किया गया होगा। शनिवार को पुलिस टीम ने पुलिया और उसके आसपास तलाशी ली, लेकिन रेगुलेटर का पता नहीं चला सका। 

गौरतलब है कि शनिवार रात दो बदमाश धनेली बायपास की एसबीआई ब्रांच के 13 लॉकरों को काटकर साढ़े तीन करोड़ रुपए के जेवर और नकदी लेकर फरार हो गए थे। इसके पांचवें दिन बैंक से 4 किमी दूर गैस सिलेंडर, कटर, पाइप, जले दस्तावेज समेत अन्य सामान मिला था।

सिलेंडर भरने वालों पर टिकी निगाह

पुलिस के मुताबिक सिलेंडर में लगभग डेढ़ से दो किग्रा गैस बची है। सिलेंडर से लेकर पॉलिथीन तक में रखी गैस पाइप और कटर नए तो हैं, लेकिन लोकल कंपनी की है, जबकि सिलेंडर पुराना है। 

इससे उसकी पहचान करना बेहद मुश्किल है। इस गैस पाइप और सिलेंडर का उपयोग आमतौर पर खाना बनाने में किया जाता है। 

आशंका है कि बैंक में घुसने से पहले बदमाशों ने सिलेंडर किसी दुकान पर भरवाया होगा। इस आधार पर पुलिस टीम धनेली बायपास और उससे सटे गैस सिलेंडर भरने वालों से पूछताछ कर रही है।

हरियाणा के छह बदमाशों को पकड़ने पुलिस ने डाला डेरा

कवर्धा के बोडला और धरसींवा के इलाहाबाद बैंक में बदमाशों ने लॉकर काटकर करोड़ों रुपए की चोरी की है। उसी पैटर्न पर धनेली बायपास की एसबीआई ब्रांच से लॉकर काटकर वारदात को अंजाम दिया गया है। 

इलाहाबाद बैंक की वारदात में हरियाणा के एक गिरोह के दो बदमाशों को पुलिस ने पकड़ा था, जबकि उनका गिरोह 8 बदमाशों का था। 6 बदमाश पुलिस को नहीं मिले। 

हालांकि पुलिस के पास उनकी डिटेल है। अब उन बदमाशों को तलाशने पुलिस ने हरियाणा में डेरा जमा दिया है। 

स्थानीय पुलिस की मदद से उनकी तलाश शुरू हो गई है। पुलिस का मानना है कि उनके पकड़े जाने पर इस केस से पर्दा उठ सकता है।

देवेंद्र वर्मा ने दी डिटेल

पुलिस के मुताबिक शनिवार को पूर्व प्रमुख सचिव विधानसभा देवेंद्र वर्मा ने शनिवार को लॉकर से गए जेवरों का ब्योरा पुलिस को दिया है।

हालांकि पुलिस यह नहीं बता रही कि लॉकर से कितना तोला या फिर लाख का जेवर गया है।वहीं सूत्रों का दावा है कि 20 से 25 तोला सोने के जेवर गायब होने का अनुमान है।

5 किग्रा का घरेलू सिलेंडर समेत अन्य उपकरण मिले थे। परीक्षण में लगभग डेढ़ किग्रा सिलेंडर में गैस है। हरियाणा और दिल्ली के पुराने गिरोहों से डिटेल खंगाली जा रही है।

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
raipur sbi locker robbery no clues so far

-Tags:#SBI Lockers#Raipur#Bank Robbery#SBI Branch#Crime News
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo