Top

छत्तीसगढ़ के चुनाव चिन्हों में लगेगा स्वाद का तड़का- अबकी बार हरी मिर्च और नूडल्स पर पड़ेंगे वोट

हरिभूमि ब्यूरो/ रायपुर | UPDATED Jun 24 2018 1:28AM IST
छत्तीसगढ़ के चुनाव चिन्हों में लगेगा स्वाद का तड़का- अबकी बार हरी मिर्च और नूडल्स पर पड़ेंगे वोट

विधानसभा चुनाव में प्रत्याशी अगर कहते नजर आएं कि मुझे खाने की थाली में वोट देना या नूडल के कटोरे में वोट देना तो चकित होने की जरुरत नहीं है।

दरअसल इस बार निर्वाचन आयोग ने चुनाव चिन्हों की फेहरिश्त में स्वाद का तड़का तो लगाया ही है, परंपरागत चिन्हों को थोड़ा हाईटेक भी किया है।

इसीलिए इस चुनाव में खाने से भरी थाली, हरी मिर्च, भिंडी, मुंगफली, नूडल का कटोरा और नाशपाती जैसे चुनाव चिन्हों को मान्यता दी गई है। साथ ही मोबाइल चार्जर, वैक्यूम क्लीनर और हेडफोन पर भी इस बार वोट मांगे जाएंगे।

भारत निर्वाचन आयोग द्वारा समय समय पर चुनाव चिन्हों की समीक्षा की जाती है। इस दौरान पुराने और अप्रासंगिक हो चले चिन्हों के स्थान पर तत्कालिक परिस्थितियों में जनता के बीच लोकप्रिय और आसानी से पहचाने जाने वाले प्रतीकों को चुनाव में चिन्ह के रुप में मान्यता दी जाती है।

निर्वाचन आयोग ने 2018 में हुए कर्णाटक और गुजरात के चुनावों में कई नए चुनाव चिन्हों को स्थान दिया है। इस तरह वर्तमान में 164 प्रतीकों को निर्वाचन आयोग ने अपने वेबसाइट में दर्ज किया है।

छत्तीसगढ़ के साथ 2018 में होने वाले चार अन्य राज्यों के चुनावों में भी कुछ नए दलों व निर्दलीय अभ्यर्थियों को इन्हीं चुनाव चिन्हों में से प्रतीक आबंटित किए जा सकते हैं।

जोगी कांग्रेस पर टिकी निगाहें

छत्तीसगढ़ में भाजपा और कांग्रेस के बाद तीसरे दल के रुप में सामने आई जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ को अब तक चिन्ह का आबंटन नहीं किया गया है।

नारियल को चिन्ह बनाने की कोशिश में जुटी पार्टी को अब दूसरे चिन्ह का इंतजार है। पार्टी अपने लिए छत्तीसगढ़ी पहचान के अनुरुप और जनता के बीच आसानी से पहचाने जाने वाले प्रतीक को लेने का प्रयास कर रही है।

पार्टी नेताओं का दावा है कि महीनेभर के भीतर चिन्ह का आबंटन कर दिया जाएगा।

डोली, डीजल और डिश एंटिना भी

निर्वाचन आयोग की वेबसाइट के अनुसार डोली, डीजल पंप, डिश एंटिना, मूसल, उपहार, फ्राइंग पैन, एस्सटेंशन बोर्ड, ड्रील मशीन, कटिंग प्लायर, कलर ट्रे और ब्रूश, चपाती रोलर, कार्पेट, बिस्कुट, बेबी वॉकर, एयरकंडीशनर, ब्रुश, कैन, डम्बल्स, ग्लोब, पानी गर्म करने की रॉड, लाइटर, अनानास, पेन स्टैंड, पेंसिल डिब्बा, सेफ्टी पिन, चाय छलनी, टीलर, टॉफियां, तुरही, अखरोट, ट्रे, जूता, प्लेट स्टैंड, पैंट, कुंडी, हेलमेट, अंगूर चुनाव चिन्हों में शामिल हैं।

चिन्ह का महत्व इसलिए

निर्दलीय प्रत्याशियों और नई पार्टियों के प्रत्याशियों के लिए चुनाव चिन्ह इसलिए महत्वपूर्ण हैं क्योंकि इसी के आधार पर उन्हें मतदाताओं को रिझाना होता है।

कई मामलों में चुनाव चिन्हों को धार्मिक, सामाजिक या सांकेतिक प्रतीकों से जोड़कर इससे लाभ अर्जित करने की कोशिश भी की जाती है।

इसलिए आमतौर पर उगता सूरज, नारियल, दो पत्ती और सीढ़ी जैसे चर्चित चुनाव चिन्हों की मांग होती है और इन्हें प्राप्त करने के लिए प्रत्याशी जद्दोजहद भी करते हैं।

ADS

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
ec to give eating plate green chili and noodle as election symbol

-Tags:#Chhattisgarh Assembly Elections#Eection Symbol#Vote#Hightech Election Symbol

ADS

ADS

मुख्य खबरें

ADS

ADS

ADS

ADS

Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo