Top

बाकी मुर्गों पर 3 गुना भारी है यह 'कड़कनाथ', मार्केट में है भारी डिमांड

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Nov 27 2017 1:26PM IST
बाकी मुर्गों पर 3 गुना भारी है यह 'कड़कनाथ', मार्केट में है भारी डिमांड

छत्तीसगढ़ में आजकल मुर्गे की एक प्रजाति ने धूम मचा रखी है। नक्सली प्रभावित क्षेत्र दंतेवाड़ा में 'कड़कनाथ' मुर्गे या जिसे इलाके के लोग 'कालीमासी' कहते हैं, इन दिनों काफी चर्चा में हैं।

इन मुर्गों की खासियत है कि ये मुर्गे पूरे काले होते हैं और इनका गोश्त आम रेट से बहुत ज्यादा है। 'कड़कनाथ' मुर्गे के मीट की बोली 500-600 रुपए प्रति किलो के हिसाब से लगती है।

यह भी पढ़ें- शर्मनाक! महिला टीचर ने छात्रा को बनाया हवस का शिकार, भेजती थी ऐसी तस्वीरें

तेजी से बढ़ रहा व्यवसाय 

दंतेवाड़ा क्षेत्र में कालीमासी मुर्गे का व्यापार काफी तेजी से बढ़ रहा है। इन मुर्गों को पालने वाले एक व्यवसायी ने बताया कि इन मुर्गों से उन्हें 6 महीने में करीब 2 से 2.5 लाख रुपए कमाई की उम्मीद है। 

तीन गुना है रेट 

जहां आम चिकन 80-200 रुपए किलो बिक रहे हैं वहीं कालीमासी मुर्गों का दाम 500 से 600 रुपए किलो है। कालीमासी मुर्गे मध्य प्रदेश के झाबुआ जिले से आते हैं। इन मुर्गों में अगर बंपर कमाई है तो इनके पालन-पोषण में भी मोटी रकम खर्च करनी पड़ती है। 

एक हजार कालीमासी मुर्गों के पालन में करीब 5.23 लाख रुपए खर्च होते हैं, जिस पर 90 प्रतिशत सरकार सब्सिडी देती है। 

सरकार दे रही है 90% सब्सिडी 

दंतेवाड़ा के जिला प्रशासन कालीमासी मुर्गों के पालन को बढ़ावा देने में अहम भूमिका निभा रही है।

यह भी पढ़ें- बिल न भरने पर हॉस्पिटल ने महिला को 12 दिनों तक बनाया बंधक

साथ ही प्रशासन ने यह तय किया है कि 2018 तक इन मुर्गों की संख्या 76,000-1.5 लाख करनी है। इसलिए सरकार इन पर पहले सीजन में 90% और अगले सीजन 10% सब्सिडी दे रही है।

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
dantewadas kadaknath chicken demand kali masi rates higher than normal chicken

-Tags:#Dantewada#Kadaknath Chicken#Kali Masi Chicken#Famous Chicken
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo