Hari Bhoomi Logo
सोमवार, मई 29, 2017  
Top

महिला सरपंच बोली- देसी शराब दुकान बंद होने से माहौल खराब, जल्द खोलिए!

haribhoomi.com | UPDATED May 4 2016 10:43AM IST
राजनांदगांव. छत्तीसगढ़ के कई इलाकों में शराब दुकानों का चौतरफा विरोध हो रहा है, लेकिन डोंगरगांव ब्लाक के कोकपुर गांव की महिला सरपंच ने सुराज अभियान में एक आवेदन देकर अधिकारियों को हैरत में डाल दिया है।
 
महिला सरपंच उमाबाई ने ग्रामीणों के साथ मिलकर सुराज अभियान में आए अधिकारियों को कहा कि शराब भट्ठी के बंद होने के बाद से गांव का माहौल अशांत हो गया है और आए दिन तनाव की स्थिति निर्मित हो रही है, यहां जल्द शराब दुकान खोली जाए।
 
राज्य शासन ने शराबबंदी के तहत डोंगरगांव ब्लॉक के अधीन आने वाले ग्राम कोकपुर में पिछले तीन साल पहले शराब दुकान को बंद करा दिया था। शराब दुकान के बंद होने के बाद से कोचियों ने गांव के हर वार्ड में अपनी दुकानदारी खोल दी है। गांव के होटल, पान ठेलों और चौक-चौराहों पर खुलेआम शराब बिक्री होने के कारण गांव का माहौल अशांत हो रहा है।
 
कोकपुर की महिला सरपंच उमाबाई लाऊत्रे की माने तो शराब दुकान के बंद होने के बाद से गांव में शराबियों की संख्या कम होने के बजाए बढ़ गयी है। सरपंच श्रीमती लाउत्रे ने सुराज अभियान के तहत प्रशासन के पास शराब दुकान फिर खोलने की फरियाद की है। ज्ञापन में महिला सरपंच ने यह भी उल्लेख किया है कि गांव में जब तक देशी शराब दुकान थी तब तक सब कुछ ठीक था, लेकिन दुकान बंद होने से माहौल खराब हो गया है।
 
नहीं होती कोई कार्रवाई
कोकपुर सहित गांव-गांव में शराब कोचियों ने अपनी दुकान खोल रखी है। ग्रामीणों ने कई बार जिला एवं पुलिस प्रशासन को शिकायत भी की, लेकिन कोचियों से अधिकारियों की सांठगांठ होने के चलते उन पर कोई कार्रवाई भी नहीं की गई। यही कारण है कि ग्रामीणों को ऐसी मांग करनी पड़ गयी।
 
आगे की स्लाइड्स में पढ़िए, खबर से जुड़ी अन्य जानकारियां- 
 
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलोकरें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo