Hari Bhoomi Logo
बुधवार, सितम्बर 20, 2017  
Top

छत्तीसगढ़: रेप की शिकार मंदबुद्धि नाबालिग ने दिया बच्चे को जन्म, आरोपी को 10 वर्ष कैद

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Aug 3 2017 2:44AM IST
छत्तीसगढ़: रेप की शिकार मंदबुद्धि नाबालिग ने दिया बच्चे को जन्म, आरोपी को 10 वर्ष कैद

मंदबुद्धि नाबालिग से दुष्कर्म करने वाले 39 वर्षीय नरेश लहरी को 10 वर्ष सश्रम करावास की सजा हुई है। सामान दिलाने के बहाने आरोपी नाबालिग से दुष्कर्म करता रहा। इससे वह गर्भवती हो गई और उसने एक बच्चे को भी जन्म दिया है।

प्रकरण के अनुसार गुढ़ियारी कलिंग नगर की एक महिला ने 2014 को पुलिस थाने में एक रिपोर्ट लिखाई कि उनकी एक 16 वर्षीय मंदबुद्धि बालिका कहीं चली गई है।

यह भी पढ़ें- भाजपा को लगा झटका, पूर्व विधायक का बेटा कांग्रेस में शामिल

बाद में 18 जुलाई 2014 को बाल कल्याण समिति माना चाइल्ड लाइन रायपुर के सदस्यों ने उन्हें सूचना दी कि उनकी बेटी शासकीय बालिका गृह माना में है। तब लोगों ने बताया कि पीड़िता चार माह से गर्भवती है।

उस समय पीड़िता ने बताया कि 6 माह पूर्व खालबाड़ा निवासी नरेश कुमार उसे बाजार का सामान लाकर देता था और उसके साथ गलत काम करता था। पीड़िता के पास से पुलिस ने आरोपी के दिए बाजारू हार, एक जोड़ी क्लिप, एक बक्कल, बाजारू कंगन आदि जब्त किया।

आरोपी की गिरफ्तारी के बाद मामला पाक्सो की स्पेशल जज तजेश्वरी देवांगन की कोर्ट में चला। दोनों पक्षों को सुनने के बाद आराेपी नरेश कुमार लहरी को 10 वर्ष कठोर करावास एवं एक हजार रुपए जुर्माने की सजा हुई।

यह भी पढ़ें- बहू पर फिदा हुआ ससुर, बेटे के बाहर जाते ही बनाया हवस का शिकार

बचाव पक्ष ने कोर्ट में आग्रह किया कि आरोपी अपने घर में एकलौता कमाने वाला है और उसके दो छोटे बच्चे हैं, लेकिन कोर्ट ने बचाव पक्ष का निवेदन अस्वीकार कर दिया।

गंभीर टिप्पणी करते हुए कहा कि आरोपी ने बालिका के अबोधपन का फायदा उठाकर इस कृत्य को अंजाम दिया है। इससे वह गर्भवती हुई है और पीड़िता को शारीरिक एवं मानसिक वेदना झेलनी पड़ी, इसलिए बालिका को क्षतिपूर्ति दिया जाना चाहिए।

उन्होंने विधिक सेवा प्राधिकरण से 25 हजार रुपए की क्षतिपूर्ति राशि देने के निर्देश दिए हैं।

पीड़िता को मिला न्याय

परिजनों को अपने बालक-बालिकाओं पर नजर रखनी चाहिए। यदि कोई प्रलोभन दे रहा है या घर के आसपास किसी की गतिविधि संदिग्ध है, तो उसे नजरअंदाज न करें।

इस मामले में मेडिकल रिपोर्ट में बालिका के अबोधपन की बात सामने आ गई, फिर बालिका ने आरोपी के कृत्यों को कोर्ट में सिलसिलेवार रखा। हमने पूरी मेहनत के साथ तथ्यों को प्रस्तुत किया, आखिरकार पीड़िता को न्याय मिला।

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
rape victim retarded minor girl born

-Tags:#Chhattisgarh#Crime News#Rape
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo