Breaking News
Top

बजरंग दल संजोयक ने कहा- अपने ही देश में हिंदू कहीं अल्पसंख्यक न हो जाएं

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Sep 15 2017 2:56AM IST
बजरंग दल संजोयक ने कहा- अपने ही देश में हिंदू कहीं अल्पसंख्यक न हो जाएं

अपने ही देश में हिंदू कहीं अल्पसंख्यक न हो जाएं, इसलिए जनसंख्या असंतुलन पर मंथन करना समय की मांग है। यह कहना है बजरंग दल के राष्ट्रीय संयोजक मनोज वर्मा का।

रायपुर प्रवास के दौरान मीडिया से चर्चा में उन्होंने हिंदुओं की लगातार घटती संख्या पर चिंता जाहिर की और इससे निपटने के उपायों पर जोर दिया।

उन्होंने जानकारी दी कि बजरंग दल का राष्ट्रीय अधिवेशन 27 से 29 सितंबर को भोपाल में होने जा रहा है। इसमें देशभर के पांच हजार से अधिक प्रतिनिधि शामिल होंगे। इसमें छत्तीसगढ़ के भी 200 से अधिक प्रबुद्धजन शामिल होंगे।

बजरंग दल के राष्ट्रीय संयोजक ने बताया, अधिवेशन में मुख्यत: तीन बिंदुओं पर चर्चा की जाएगी। इसमें आंतरिक सुरक्षा, जनसंख्या असंतुलन और राम जन्मभूमि का मुद्दा प्रमुख है।

कार्यक्रम का शुभारंभ विश्व हिंदु परिषद के अध्यक्ष राघव रेड्डी करेंगे। जबकि कार्यक्रम में विहिप के कार्यकारी अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया भी शामिल होंगे।

इसे भी पढ़ें- कांग्रेस ने पूछा 'गौ हत्या' पर RSS चुप क्यों है

कार्यक्रम में प्रख्यात पहलवान योगेश्वर दत्त और और सैन्य अधिकारियों को बतौर अतिथि आमंत्रित किया गया है। उन्होंने कहा, वर्तमान सरकार तीनों प्रमुख विषयों पर काम कर रही है, लेकिन कुछ मुद्दों पर और अधिक कसावट की आवश्यकता है।

इसी वजह से अधिवेशन में होने वाले फैसले को केंद्र सरकार को भेजा जाएगा और तीनों प्रमुख मुद्दों पर ठोस निर्णय की मांग रखी जाएगी।

तीन तलाक मामले पर भड़के

उन्होंने राम जन्मभूमि के विषय पर कोर्ट के फैसले को मानने के सवाल पर कहा, हम हमेशा कोर्ट का सम्मान करते रहे हैं। किसी बोर्ड की तरह कोर्ट के फैसले के बाद बैठक कर इससे असहमति नहीं जताएंगे।

बीते दिनों तीन तलाक के फैसले को सुप्रीम कोर्ट द्वारा असंवैधानिक करार दिए जाने के बाद मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की बैठक की गई थी। इसमें फैसले को शरीयत के खिलाफ माना गया था। इस पर बजरंग दल के राष्ट्रीय संयोजक ने नाराजगी जताई।

रोहिंग्या देश के लिए खतरा

बजरंग दल के राष्ट्रीय संयोजक ने बर्मा के रोहिंग्या मुसलमानों को देश के लिए खतरा बताते हुए आंतरिक सुरक्षा मजबूत करने की मांग की है। उन्होंने कहा, रोहिंग्या मुसलमानों से आतंक फैलने का खतरा है। उन्हें देश से बाहर रखना ही उचित है।

इससे पहले गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने भी रोहिंग्या मुसलमानों के विषय में इसी तरह की टिप्पणी की थी। बजरंग दल के संयोजक ने इसका समर्थन किया। इस विषय पर भी अधिवेशन में चर्चा कराने की बात कही है।

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo