Hari Bhoomi Logo
बुधवार, सितम्बर 20, 2017  
Breaking News
Top

पक्षियों से हारा एयरपोर्ट प्रबंधन, 1 साल में तीन बड़ी घटनाएं

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Sep 10 2017 1:03AM IST
पक्षियों से हारा एयरपोर्ट प्रबंधन, 1 साल में तीन बड़ी घटनाएं

स्वामी विवेकानंद एयरपोर्ट से संचालित होने वाले विमानों के लिए पक्षी बड़ा खतरा बन रहे हैं। सालभर के भीतर यहां तीन विमान पक्षियों के टकराने की घटना के शिकार हो चुके हैं। 

हालांकि इससे किसी तरह की जनहानि नहीं हुई, लेकिन इससे विमान कंपनियों को काफी नुकसान हुआ है। बर्ड हिट के कारण विमानों में आई खराबी के चलते संचालन स्थगित करना पड़ा है।

जानकारों का कहना है, एयरपोर्ट के आस-पास के गांवों में मौजूद गांवों में खुले में फेंके गए खाद्य पदार्थ तथा अन्य सामग्रियों के कारण पक्षी आकर्षित होते हैं। 

एयरपोर्ट प्रबंधन सुरक्षा के मद्देनजर गांव वालों को खुले में खाद्य पदार्थ तथा पक्षियों को आकर्षित करने वाले वस्तु नहीं छोड़ने का आग्रह कई बार कर चुका है, मगर इसका कोई असर नहीं हुआ। 

खाद्य पदार्थों की ओर आकर्षित होने वाले पक्षी खासकर ऊंचाई में उड़ान भरने वाले चील जैसे जानवर विमानों के लिए खतरनाक साबित हो रहे हैं। एयरपोर्ट अथारिटी ने इसी के चलते एयरपोर्ट के दस किमी के दायरे में आने वाले संकरी ट्रेचिंग ग्राऊंड को एनओसी देने से मना कर दिया था। 

एयरपोर्ट प्रबंधन रनवे से पक्षियों को दूर रखने के लिए लेजर गन की सुविधा ले रखी है मगर ऊंचे आसमान पर उड़ान भरने वाले पक्षियों को रोक पाने के लिए उनके पास किसी तरह की सुविधा नहीं है।

पहले भी बड़ी घटनाएं

रायपुर-पुणे फ्लाइट-

विभागीय सूत्रों के अनुसार 9 सितंबर 2016 को रायपुर से पुणे के लिए उड़ी फ्लाइट 15 मिनट बाद पक्षी से टकरा गई। इसके बाद विमान की इमरजेंसी लैंडिंग कराई गई। काफी कोशिश के बाद भी इसमें सुधार के लिए वक्त लग गया था और लगभग सप्ताहभर तक उसका संचालन नहीं हो पाया था। इसके कारण इस सेक्टर में उड़ान भरने वाले यात्रियोें को परेशानी उठानी पड़ी थी। कंपनी को भी आर्थिक नुकसान हुआ।

रायपुर-कोलकाता फ्लाइट-

निजी एयर लाइंस की फ्लाइट रायपुर से कोलकाता के लिए उड़ी थी। अचानक फ्लाइट से पक्षी जा टकराई। इससे विमान के सामने का हिस्सा प्रभावित हो गया था। उसमें सुधार के लिए तीन माह तक विमान का संचालन रोकना पड़ गया था। यह घटना 10 अप्रैल 2017 को हुई थी। कोलकाता की एकमात्र फ्लाइट होने के कारण कंपनी को दूसरे विमान की व्यवस्था करनी पड़ी थी।

गौरतलब है कि आसमान में उड़ान भरने वाले पक्षियों को रोक पाना संभव नहीं है। बर्ड हिट की घटनाएं इसी कारण होती हैं। इसकी वजह से विमान कंपनियों को नुकसान होता है। सौभाग्य से इसकी वजह से अब तक किसी प्रकार की जनहानि नहीं हुई है।

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
hara airport management with birds in raypur

-Tags:#Hara Airport Management from Birds#Swami Vivekanand Airport
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo